टीजीटी-पीजीटी 2020 के संशोधित विज्ञापन व अन्य लंबित मामलों में ठोस आश्वासन न मिलने से नाराज युवा

प्रयागराज : माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड मुख्यालय का मंगलवार को घेराव बेनतीजा रहा है। प्रतियोगियों के प्रदर्शन को देखते हुए पूरे क्षेत्र को पुलिस छावनी में तब्दील किया गया था, टीजीटी-पीजीटी 2020 के संशोधित विज्ञापन व अन्य लंबित मामलों में ठोस आश्वासन न मिलने से नाराज युवा अब रोजगार के मुद्दे पर जनवरी में प्रदेश स्तरीय आंदोलन करने की तैयारी में हैं। इसके लिए 31 दिसंबर को छोटा बघाड़ा के ऐनीबेसेंट स्कूल में बैठक बुलाई गई है।

प्रशासनिक अधिकारियों की उपस्थिति में चयन बोर्ड अफसरों से हुई वार्ता में टीजीटी पीजीटी का संशोधित विज्ञापन जारी करने की तारीख, सामाजिक विज्ञान विषय का साक्षात्कार शुरू करने, टीजीटी 2016 जीवविज्ञान की परीक्षा समेत समायोजन व अन्य मामलों में चयन बोर्ड ठोस आश्वासन नहीं दे सका। अफसरों ने अध्यक्ष से वार्ता कराने का आश्वासन दिया है। युवा मंच के अध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि चयन बोर्ड और शासन-प्रशासन युवाओं को गुमराह करना बंद करे। सभी चयन बोर्ड व सरकार की कार्यप्रणाली से आजिज आ चुके हैं। अरसे बाद चयन बोर्ड को अक्टूबर, 2019 में 40 हजार पदों का अधियाचन मिला था। मंच पदाधिकारी के मुताबिक एक साल बाद जारी विज्ञापन में 60 प्रतिशत की कटौती की गई। अब इस विज्ञापन को रद करने और संशोधित विज्ञापन जारी करने को लेकर चयन बोर्ड टालमटोल कर रहा है।

मंच प्रतिनिधि अमरेंद्र सिंह ने कहा कि रोजगार के मुद्दे पर सरकार ठोस कदम उठाए, अन्यथा युवाओं के आक्रोश का खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

शांतिपूर्ण ढंग से आयोजित प्रदर्शन को भी पुलिस छावनी में तब्दील कर आतंक व दहशत के माहौल से युवा डरने वाले नहीं हैं। यहां बीएड उत्थान जन मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष संगीता पाल, अरविंद मौर्या, सुनील यादव, परमानंद पाठक, सत्यशील यादव, राज बहादुर सिंह, अजित सिंह, विश्वनाथ प्रताप सिंह, सुनील सिंह, विपिन कुमार आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.