राजकीय माध्यमिक में खत्म क्यों नहीं कर देते हैं संवर्ग

UP Boardप्रयागराज: उत्तर प्रदेश शैक्षिक (सामान्य शिक्षा संवर्ग) सेवा समूह-ख उच्चतर पदों पर निर्धारित पदोन्नति कोटा संशोधन की कोशिश को जीआइसी के शिक्षक अपने साथ साजिश बता रहे हैं। सवाल उठाया है कि जब राजकीय

माध्यमिक विद्यालयों (जीआइसी) में शिक्षण, प्रशिक्षण और निरीक्षण के अलग-अलग संवर्ग (कैडर) हैं तो माध्यमिक शिक्षा के समूह ख के पदों पर बेसिक के समूह ग वर्ग की पदोन्नति क्यों की जा रही है? इस तरह विभागीय पदोन्नति नियमावली का अतिक्रमण कर घालमेल करने के बजाय कैडर को ही क्यों नहीं खत्म कर दिया जाता, ताकि उनकी प्रगति का भी दायरा बढ़ सके। संघ के प्रांतीय महामंत्री रामेश्वर प्रसाद पाण्डेय बताते हैं कि राजकीय माध्यमिक शिक्षा विभाग में ग्रेड पे 4800 के हजारों प्रवक्ता पद हैं।

यह भी पढ़ेंः  एनटीए ने जेईई मेन परीक्षा 2021 का इंफोर्मेशन ब्राउशर पर जारी कर