पहले चरण में कोरोना की दहशत को वोटरों ने दी मात

पंचायत चुनाव के पहले चरण में प्रदेश के 18 जिलों में गुरूवार को हुए मतदान में गांव की सरकार बनवाने वाले वोटरों ने कोरोना संक्रमण की दहशत को पूरी तरह मात दे दी। छिटपुट घटनाओं को छोड़कर इन सभी जिलों में मतदान शांतिपूर्वक सम्पन्न हुआ। कहीं कोई बड़ी अप्रिय घटना नहीं हुई। निर्वाचन आयोग के अनुसार 71 फीसदी मतदान हुआ। सबसे ज्यादा झांसी में 80 प्रतिशत और सबसे कम जौनपुर में 63.15 प्रतिशत वोटिंग हुई।

पहले चरण में अयोध्या, आगरा, कानपुर, गाजियाबाद, गोरखपुर, जौनपुर, झांसी, प्रयागराज, बरेली, भदोही, महोबा, रामपुर, रायबरेली, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, सहारनपुर, हरदोई और हाथरस जिलों में मतदान जारी है । इसचरण में जिला पंचायत सदस्य के 779 पदों के लिए 11442 प्रत्याशी क्षेत्र पंचायत सदस्य के 19313 पदों के लिए 81747 उम्मीदवार, ग्राम प्रधान के 14789 पदों के लिए 114142 प्रत्याशी तथा ग्राम पंचायत वार्ड सदस्यों के 186583 पदों के लिए 126613 उम्मीदवार मैदान में हैं।

आगरा व झांसी में हुई छिटपुट घटनाएं
आगरा के फतेहाबाद तहसील के रिहावली मतदान केंद्र प्राथमिक विद्यालय के एक बूथ से उपद्रवी दो मतपेटिका लूट ले गए। बताया जा रहा है यहां पहले फर्जी वोटिंग को लेकर दो पक्षों के समर्थक आमने-सामने आए थे। इसी दौरान मतपेटी लूट की वारदात हो गई।मतपेटी लूट की जानकारी मिलते ही पुलिस फोर्स सहित जिला अधिकारी और एसएसपी मौके पर पहुंचे।

झांसी जिले के ककरबई थाना क्षेत्र अंतर्गत गांव कैरोखर में बनाए गए बूथ संख्या 1, 2 पर जमकर उपद्रव हुआ। मतदान केन्द्र पर रखे बैलेट पेपर फाड़ डाले। कुर्सियां तोड़ डाली। यहीं नहीं आक्रोशित लोगों ने जमकर पथराव किया। जिससे केन्द्र पर अफरा-तफरी मच गई। वहीं कई घंटे मतदान बाधित रहा। घटना के बाद केन्द्र छावनी में तब्दील हो गया। करीब एक घंटे के बाद भारी पुलिस बल की मौजूदगी में दोबारा मतदान शुरू हुआ।

प्रयागराज के हंडिया थाना क्षेत्र के गनेशीपुर उपरहार मतदान केन्द्र पर मारपीट हुई। प्रधान पद के उम्मीदवार राज बहादुर यादव पर फर्जी मतदान करवाने का आरोप लगा। रोकने पर प्रत्याशी के समर्थकों ने ग्रामीणों से मारपीट की।

बरेली में गलत मतपत्र से हुआ मतदान
बरेली की आंवला तहसील के केसरपुर मतदान केन्द्र पर जिला पंचायत सदस्य के मतपत्र आपस में बदल गए। सुबह साढ़े तीन बजे तक गलत मतपत्रों पर ही मतदान होता रहा। शिकायतों के बाद तहसीलदार शर्मनानन्द यादव ने मतपत्रों को सही करा मतदान फिर शुरू कराया। र जिला पंचायत का वार्ड 32 में कुल 14 प्रत्याशी मैदान में हैं। वार्ड 33 में प्रत्याशियों की संख्या आठ है। पीठासीन अधिकारी का कहना है कि उनको सुभाष कालेज में पोलिंग पार्टियां रवाना करते समय ही दोनेां वार्डो में आठ चिन्ह वाले ही मतपत्र दिए गए थे। जिस पर उन्होनें वोटिंग शुरू करा दी। 11 बजे इस मामले की जानकारी हुई कि वार्ड 32 में 14 के स्थान पर आठ चिन्ह वाला वैलेट पेपर का इस्तेमाल हो रहा है, तो एसडीएम को सूचना की गई, लेकिन वह इस मामले का कोई निस्तारण नही कर सकी।शाम को साढ़े तीन बजे तहसीलदार ने वार्ड 32 के मतपत्र बदलवायें और पुन: मतदान शुरू कराया। इस बीच 15 मिनट तक वोटिंग बंद रही। इस वार्ड में 1800 में से 1150 वोट पड़ चुके थे। कांग्रेस जिला अध्यक्ष मिर्जा अशफाक सकलैनी ने इस मामले की शिकायत डीएम को की है।

लगातार फैलते संक्रमण की वजह से इस बार के पंचायत चुनाव में मतदाताओं में व्याप्त भय और दहशत की वजह से मतदान प्रतिशत बुरी तरह प्रभावित होने की आशंका थी मगर ग्रामीण मतदाताओं ने मतदान केन्द्रों पर कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए मास्क लगाकर, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखते हुए पूरे उत्साह के साथ मतदान किया। दोपहर तीन बजे तक ही इन सभी जिलों में 49 फीसदी वोट पड़ चुके थे। सुबह सात बजे जब मतदान शुरू हुआ तो वोट डालने के लिए आने वालों की रफ्तार सुस्त थी मगर दिन चढ़ने के साथ मतदान केन्द्रों पर लोगों के आने का सिलसिला तेज हुआ। राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार इन सभी जिलों में सुबह नौ बजे तक दस प्रतिशत वोट पड़े थे। पूर्वान्ह 11 बजे यह मतदान प्रतिशत बढ़कर 21 हुआ, दोपहर एक बजे तक 35 प्रतिशत मतदान हो चुका था। दोपहर तीन बजे तक 49 फीसदी वोट पड़ चुके थे।

कहां कितने प्रतिशत पड़े वोट शाम पांच बजे तक
जिला मतदान प्रतिशत
अयोध्या 70
आगरा 71.61
कानपुर नगर 75
गाजियाबाद 74.33
गोरखपुर 70
जौनपुर 63.15
झांसी 80
प्रयागराज 75
बरेली 73.3
भदोही 63.81
महोबा 78
रामपुर 71
रायबरेली 68
श्रावस्ती 64
संत कबीरनगर 70
सहारनपुर 74,53
हरदोई 70
हाथरस 70.55

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.