प्रदेश के राजकीय एवं अशासकीय महाविद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को जल्द भरे जायेंगे

प्रदेश के राजकीय एवं अशासकीय महाविद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को जल्द ही भर लिया जाएगा। एक तरफ राजकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के पांच सौ से अधिक पदों पर चयनित अभ्यर्थियों की ऑनलाइन काउंसलिंग शुरू हो चुकी है, वहीं, अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 2003 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन लिए जा चुके हैं और अब परीक्षा शुरू होने का इंतजार है।

राजकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 500 से अधिक पदों का चयन का परिणाम उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग पिछले दिनों जारी कर चुका है। इन पदों पर चयनित अभ्यर्थियों की काउंसलिंग अब तक ऑफलाइन माध्यम से होती थी, लेकिन महाविद्यालय आवंटन में गड़बड़ी की तमाम शिकायतें आने के बाद शासन ने पहली बार ऑनलाइन कांउसलिंग कराने का निर्णय लिया। ऑनलाइन काउंसलिंग के बाद नियुक्ति पत्र भी ऑनलाइन जारी किए जाएंगे। उच्च शिक्ष निदेशालय की ओर से जारी किए गए ऑनलाइन काउंसलिंग के कार्यक्रम के अनुसार पूरी प्रक्रिया 15 जून तक पूरी कर ली जाएगी और 16 जून को परिणाम भी जारी कर दिया जाएगा। यानी इसी माह सभी चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी कर दिए जाएंगे।

दूसरी ओर, प्रदेश के अशासकीय महाविद्यालयों में रिक्त पड़े असिस्टेंट प्रोफेसर के 2003 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। तकरीबन एक लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किए हैं। इन पदों पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा 26 मई से प्रस्तावित थी, लेकिन कोविड के मद्देनजर परीक्षा स्थगित कर दी गई। प्रदेश के अशासकीय महाविद्यालयों में पांच साल बाद असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर कोई नई भर्ती होने जा रही है। आयोग के सूत्रों के मुताबिक लिखित परीक्षा का आयोजन कराकर परिणाम घोषित करने की प्रक्रिया इसी वर्ष ही पूरी की जानी है। वहीं, अगले वर्ष की शुरुआत में इंटरव्यू कराकर अंतिम चयन परिणाम घोषित किए जाने की तैयारी है। ऐसे में आयोग जल्द ही लिखित परीक्षा की तिथि घोषित कर सकता है।