बच्चों के अधिक उपस्थिति पर विद्यालय मानक का करें प्रयोगः शिखा शुक्ला

Basicसुलतानपुर (जनसंदेश न्यूज)। राज्य परियोजना कार्यालय लखनऊ से की विशेषज्ञ शिखा शुक्ला ने अपने दो दिवसीय जनपद भ्रमण के दौरान बल्दीराय, धनपतगंज, कूरेभार व भदैंया के कुल दस विद्यालयों का निरीक्षण करने के पश्चात डायट सुलतानपुर में सभी एआरपी, एसआरजी व डायट मेण्टर के साथ समीक्षा बैठक की। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति अधिक है। इसलिए विद्यालय मानक संचालन प्रक्रिया का प्रयोग किया जाए। विद्यालयों के पठन-पाठन की प्रशंसा करते हुए आपने कहा कि बच्चे कक्षा में सक्रियता के साथ बातचीत कर रहे हैं।

आपने सुझाव दिया कि शिक्षक अपने शिक्षण में कहानी, खेल व गतिविधि का प्रयोग करें, इससे बच्चों को सीखने में आनन्द आएगा और वे रोज स्कूल आने के लिए लालायित होगें। पूर्व प्राथमिक शिक्षा की चर्चा करते हुए आपने कहा कि प्रत्येक न्याय पंचायत में चयनित शिक्षक संकुल में प्रत्येक न्याय पंचायत से एक-एक शिक्षक संकुल को रिसोर्स पर्सन के रूप में नामित करें। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी दीवान सिंह ने मिशन प्रेरणा में जनपद के प्रगति की चर्चा करते हुए कहा कि रीड एलांग एप में जनपद सुलतानपुर प्रदेश में दूसरे स्थान पर है। आपने एआरपी, एसआरजी व डायट मेण्टर को मिशन प्रेरणा का बेहतर सारथी बताया। आपने कहा कि मिशन प्रेरणा के सभी कार्यों में जनपद को प्रदेश में टाप फाइब में रखने का आह्वान किया। जिला समन्वयक प्रशिक्षण दिलीप कुमार ने एआरपी व एसआरजी के कार्य दायित्व की विस्तार से चर्चा की। संदर्भ समूह के सदस्य सत्यदेव पांडेय ने प्रेरणा लक्ष्य एप पर चर्चा करते हुए बताया कि इसमें जनपद सुलतानपुर प्रदेश स्तर पर चौदहवें नंबर पर है। ब्लाकवार डाटा प्रस्तुत करते हुए बताया कि दोस्तपुर ब्लाक प्रदेश के सभी ब्लाकों में सातवें नंबर पर है। राज्य संदर्भ समूह के सदस्य सुनील कुमार सिंह व कूरेभार बीईओ रवींद्र वर्मा ने मिशन प्रेरणा की सामग्री प्रिन्ट रिच, माड्यूल, गणित किट, प्रेरणा लक्ष्य आदि पर विस्तार से चर्चा की। वही प्रभारी डायट प्राचार्य ने परियोजना से आई पूरी टीम का स्वागत करते हुए डायट द्वारा किए जा रहे कार्यों का विवरण प्रस्तुत किया। मौके पर डायट प्रवक्ता दिलीप शर्मा, विजय कुमार, शैलेष मौर्य, शरद चतुवेर्दी, मनीष तिवारी बी.ई.ओ. शालिनी श्रीवास्तव, शिखा मिश्रा ए. आर. पी. पंकज सिंह, विनोद सिंह, एम. डी. एम. जिला समन्वयक संदीप यादव, एम.आई.एस. इंचार्ज धर्मेश गुप्ता प्रेरणा सारथी अमरेंद्र सिंह और सतेन्द्र यादव आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ेंः  एकल शिक्षक का बहाना, समय से नहीं आते शिक्षक

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.