1.70 करोड़ बच्चों को इस सत्र से मिलेंगे जूते-मोजे

सरकारी स्कूलों में कक्षा एक से आठ तक के बच्चों को इसी जुलाई से यूनिफॉर्म के साथ ही जूते और मोजे दिए जाएंगे। शिक्षा विभाग इसके लिए जल्द ही टेंडर करने जा रहा है। जूते और मोजों पर सरकार प्रति बच्चा 170 रुपये खर्च करेगी। अभी तक स्कूलों में बच्चों को साल में दो यूनिफॉर्म दी जाती थीं।

इसमें जूते और मोजे नहीं होते थे। बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में जूते और मोजे देने का भी वादा किया था। अब सरकार बनने के बाद इसकी तैयारी कर ली गई है। इसका फायदा प्रदेश के करीब 1.70 करोड़ बच्चों को मिलेगा। इसमें एक जोड़ी जूते की कीमत 150 रुपये और दो जोड़ी मोजे की कीमत 20 रुपये तय की गई है।

करीब “290 करोड़ आएगा खर्च: यूनिफॉर्म स्कूल स्तर पर विद्यालय प्रबंध समितियों के जरिए दी जाती है। जूते और मोजे के लिए केंद्रीय स्तर पर विभाग खुद टेंडर करेगा। इस पर लगभग 290 करोड़ रुपये खर्च आएगा। माना जा रहा है कि इसी हफ्ते टेंडर के लिए विज्ञापन दिया जा सकता है। नई व्यवस्था के तहत ई-टेंडर किया जाएगा और कंपनियों से ऑनलाइन आवेदन मांगे जाएंगे।

इसी सत्र से जूते और मोजे देने की तैयारी है। जल्द ही ई टेंडर किए जाएंगे, ताकि समय पर बच्चों को जूते और मोजे उपलब्ध करवाए जा सकें।  – सर्वेंद्र विक्रम सिंह, निदेशक, बेसिक शिक्षा

यह भी पढ़ेंः  फर्जी अध्यापकों पर गिरी गाज, 2823 की बर्खास्तगी वैध करार