एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परिणाम के लिए शुरू किया अनशन

प्रयागराज : चयन बोर्ड परीक्षा के आठ माह बाद एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती का परिणाम जारी किया है वो भी टुकड़ों में। बड़े विषयों के रिजल्ट का अभी कोई अता-पता ही नहीं है। यूपीपीएससी कार्यालय पहुंच कर अभ्यर्थियों ने सोमवार को यही मुद्दा जोर शोर से उठाया और सबसे बड़े विषय सामाजिक विज्ञान का रिजल्ट जल्द जारी करने की मांग की। कहा कि महिला और पुरुष वर्ग का रिजल्ट एक साथ जारी किया जाए।

यूपीपीएससी से एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती 2018 का परिणाम जारी होने का सिलसिला मार्च के तीसरे सप्ताह से शुरू हुआ। भर्ती कुल 10768 पदों पर होनी है लेकिन, अब तक तीन चरण में कम पदों वाले छोटे-छोटे विषयों के 116 रिक्तियों पर ही परिणाम जारी हुए हैं। गृह विज्ञान विषय में एक रिक्ति पर योग्य अभ्यर्थी न मिलने से यह अनभरी रह गई है। सोमवार को यूपीपीएससी में उप्र माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड प्रतियोगी मोर्चा के नेतृत्व में सैकड़ों अभ्यर्थी पहुंच गए। खूब नारेबाजी की।

संयोजक विक्की खान ने कहा कि बड़े विषयों का परिणाम समय से न आने के चलते अभ्यर्थियों का काफी नुकसान हो रहा है। मांग की कि यूपीपीएससी अब बड़े विषय में सबसे पहले सामाजिक विज्ञान का परिणाम जारी करे क्योंकि इसी में सबसे अधिक रिक्तियां हैं। मांग रखी गई कि किसी एक विषय में महिला और पुरुष वर्ग का परिणाम अलग-अलग दिन जारी न कर एक साथ दिया जाए। अभ्यर्थियों ने इस संबंध में एक प्रार्थना पत्र यूपीपीएससी के काउंटर पर दिया और दोपहर बाद लौट गए। लेकिन, इस पर सहमति बनाकर अभ्यर्थी लौटे कि मंगलवार को फिर यूपीपीएससी पहुंचकर घेराव करेंगे और परिणाम जारी होने तक यह अनवरत चलेगा।

एपीओ भर्ती परीक्षा स्थगित करने की मांग: सहायक अभियोजन अधिकारी (एपीओ) भर्ती 2018 की नौ जून को प्रस्तावित परीक्षा स्थगित करने की मांग की गई है। यूपीपीएससी पहुंचे अभ्यर्थियों ने कहा कि बिहार न्यायिक सेवा की मुख्य परीक्षा सात से 11 जून तक निर्धारित की गई है। ऐसे में यूपीपीएससी से नौ जून को प्रस्तावित एपीओ परीक्षा टकरा जाएगी। इसलिए परीक्षा स्थगित की जाए। मनोज पांडेय, सुनील कुमार, वेद प्रकाश पांडेय आदि के प्रार्थनापत्र पर यूपीपीएससी ने विचार करने का आश्वासन दिया है।LT Grade Teacher Recruitment

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.