UP board exam topper को 1 लाख रुपये के अलावा और भी बहुत कुछ देने की तैयारी

UP Board Exam Topper: उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश में माध्यमिक शिक्षा क्षेत्र में एक पाठ्यक्रम लागू करने पर विचार चल रहा है। योजना तैयार की जा रही है। तीन साल पहले ढाई माह में बोर्ड परीक्षा समाप्त होती थी, अब मात्र 15 दिन में हो रही है। मेधावी छात्रों के लिए मुख्यमंत्री के स्तर से कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं। माध्यमिक शिक्षा क्षेत्र में लगातार सुधार हो रहा है। नकल माफियाओं का राज खत्म हो चुका है।

आरबीएस इंटर कॉलेज में शुक्रवार को प्रदेशीय क्रिकेट प्रतियोगिता और शैक्षिक नवाचार प्रदर्शनी के उद्घाटन के बाद उन्होंने कहा कि पठन-पाठन के साथ अच्छे स्वास्थ्य के लिए खेलकूद को बढ़ावा मिलना चाहिए। प्रदेश सरकार ने माध्यमिक शिक्षा क्षेत्र में कई बदलाव किए हैं। इन बदलावों को अधिकारी, शिक्षक और छात्रों ने स्वीकार किया है। नकलविहीन परीक्षा के लिए कड़े कदम उठाए गए। माध्यमिक शिक्षा में सुधार दिखाई देने लगा है। प्रयागराज दुनिया का सबसे बड़ा बोर्ड है, उसका परचम फिर से लहराना है।

ये भी पढ़ें : लैब में सीसी कैमरे तो दूर उपकरण व शिक्षक ही नहीं

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि पढ़ेंगे और पढ़ाएंगे शब्द का सार्थक प्रयोग होना चाहिए। प्रदेश स्तर पर बोर्ड परीक्षा में टॉप करने वाले छात्रों को एक लाख रुपये, एक कंप्यूटर और उसके घर तक सड़क निर्माण की योजना चल रही है। इससे पहले मुख्य अतिथि ने शैक्षिक नवाचार प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। स्कूली छात्राओं ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। छात्रा नेहा ने सभी को शपथ दिलायी। संयुक्त शिक्षा निदेशक डॉ.मुकेश अग्रवाल ने सभी अतिथियों का स्वागत किया।

ये रहे मौजूद
इस मौके पर सांसद एसपी सिंह बघेल, राज्यमंत्री डॉ. जीएस धर्मेश, भाजपा जिलाध्यक्ष श्याम भदौरिया, शहर अध्यक्ष विजय शिवहरे, विधायक रामप्रताप सिंह चौहान, महेश गोयल, राज्य महिला आयोग सदस्य निर्मला दीक्षित, पूर्व सांसद प्रभू दयाल कठेरिया, डीआईओएस रवींद्र सिंह, वाईके गुप्ता, डॉ.विनय गिल, उप शिक्षा निदेशक जितेंद्र मलिक, डीआईओएस रवींद्र सिंह आदि मौजूद रहे। संचालकन डॉ.तरुण शर्मा, संजय बंसल और सोनम सेठ ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.