कोरोना काल में प्रभावित हुए पठन-पाठन को पटरी पर लाने की कोशिश

प्रयागराज : कोरोना काल में प्रभावित हुए पठन-पाठन को पटरी पर लाने की कोशिश चल रही है। अनलॉक-पांच में कक्षा नौ से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए भौतिक कक्षाएं शुरू कर दी गई हैं।

इनमें विद्यार्थियों की उपस्थिति बहुत कम है। उपस्थिति बढ़ाने के लिए अब शिक्षक विद्यार्थियों के घर जाएंगे और अभिभावकों को सहमति पत्र देने के लिए व छात्र- छात्राओं को स्कूल आने के लिए प्रेरित करेंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक आरएन विश्वकर्मा ने बताया कि अभी इन कक्षाओं में छात्र-छात्राओं की उपस्थिति मात्र 30 प्रतिश है। इसे बढ़ाने के लिए सभी स्कूलों के शिक्षकों को अभिभावकों के पास फोन करने के निर्देश पूर्व में दिए गए थे। उनसे आग्रह किया जा रहा था कि बच्चों को सकल भंजने के लिए सहमति पत्र दें। अब तमाम अभिभावकों ने सहमति पत्र दे दिया है फिर भी उनके बच्चे कोरोना की वजह से स्कूल आने का तैयार नहीं है। ऐसे में सभी शिक्षकों को निर्देशित किया जा रहा है कि वे विद्यार्थियों के घर जाएं और उनके अभिभावकों से बात कर सहमतिपत्र लें। डीआइओएस ने बताया कि प्रयागराज में कुल कुल 1075 माध्यमिक विद्यालय हैं। कक्षा नौ से 12वीं तक 418859 विद्यार्थी पंजीकृत हैं। विद्यार्थियों को समझाया जाएगा कि कोरोना से बचाव के लिए सभी जरूरी उपाय किए गए हैं।

image Source voicesofyouth – Demo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.