प्रेरणा एप से हाजिरी लेने से पहले करें अंतरजनपदीय और ब्लॉक स्तर की ट्रांसफर प्रक्रिया पूरी

प्रदेश के परिषदीय शिक्षकों में प्रेरणा एप चर्चा का विषय बना हुआ है और शिक्षक इसका विरोध कर रहे है। परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों की उपस्थिति के लिए शासन ने प्रेरणा एप जारी किया है जो सभी स्कूलों में 5 सितंबर से लागू होने जा रहा है। प्रेरणा एप लागू होने से पहले ही इसका विरोध शुरू हो गयाहै। बिना तैयारी के एप लागू करने के विरोध में टेट प्राथमिक शिक्षक एसोसिएशन ने बीएसए संजय कुमार कुशवाहा को ज्ञापन सौंपा। शिक्षकों का कहना है कि एप से उपस्थिति लागू करने से पहले अंतरजनपदीय और ब्लॉक स्तर की ट्रांसफर प्रक्रिया पूरी की जाए। शिक्षकों को ईएल दी जाए, एप 8:15 बजे के बाद शिक्षक को अनुपस्थित कर देगा जो कि भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए गलत होगा, अगर किसी कारणवश कोई शिक्षक कभी देर करता है तो उसे अनुपस्थित करने से पहले स्पष्टीकरण का मौका दिया जाए।

बढ़ते साइबर क्राइम को देखते हुए शिक्षिकाओं की फोटो की जगह हस्ताक्षर की फोटो ली जाए। ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष शक्तीश द्विवेदी, विवेकानन्द, सुजीत सिंह, बबिता वर्मा, ब्रजेश सिंह, मो. अली, संजीव रजक, अशोक द्विवेदी, संजय त्रिपाठी, सत्य प्रकाश, अंकित, शेषधर, चारुलेखा मिश्र आदि शामिल रहीं।

यह भी पढ़ेंः  चयनित अभ्यर्थियों की फाइल सत्यापित करके शिक्षा निदेशालय भेजनी शुरू

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.