डीएलएड 2019 का प्रशिक्षण पाठ्यक्रम अधर में अटका

प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए डीएलएड 2019 का प्रशिक्षण पाठ्यक्रम अधर में अटका है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इसका प्रस्ताव मार्च माह में ही भेज चुका है, साथ ही मई के पहले सप्ताह में समय सारिणी भी भेजी गई है लेकिन, अब तक शासन की मुहर नहीं लग सकी है। इससे असमंजस बना है हालांकि अफसर कहते हैं कि इसी सप्ताह समय सारिणी जारी होने की उम्मीद है।

प्रदेश के जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान यानी डायट व निजी कालेजों में पहले बीटीसी और अब डीएलएड का पाठ्यक्रम चलता है। करीब तीन वर्ष पहले सत्र विलंबित होने पर सुप्रीम कोर्ट को दखल देनी पड़ी थी और कोर्ट ने सत्र शुरू व पूरा होने का कार्यक्रम घोषित किया गया। किसी तरह से एक सत्र को शून्य करके इसे पटरी पर लाया गया। अब शासन फिर सत्र में बाधा बना है। सत्र 2019 में प्रवेश के लिए मई के पहले सप्ताह से ऑनलाइन आवेदन लिए जाने थे, परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय इसका प्रस्ताव भी समय पर भेज दिया लेकिन, उसका अनुमोदन अब तक नहीं हो सका है। पहले एनआइसी ने वेबसाइट को लेकर रोड़ा अटकाया अब अफसर समय सारिणी जारी नहीं कर रहे हैं। देरी होने पर जुलाई से पढ़ाई शुरू कराने पर संकट रहेगा। ज्ञात हो कि प्रदेश में डीएलएड की दो लाख 11 हजार से अधिक सीटें हैं, इन्हें भरने के लिए कम से कम तीन चरण चलाने होंगे। पिछले सप्ताह समय सारिणी जारी होनी थी लेकिन, लोकसभा चुनाव में व्यस्तता का हवाला देकर उसे टाल दिया गया। अफसर कहते हैं कि अब जल्द ही कार्यक्रम जारी होगा और उसी के अनुरूप आवेदन लेकर प्रवेश दिया जाएगा।

तबादले के लिए आज से करें आवेदन : राजकीय माध्यमिक कालेज के शिक्षक सोमवार से अपना मनचाहा तबादला कराने के लिए वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं। शिक्षा निदेशालय की मानें तो 20 मई से वेबसाइट शुरू होगी। आवेदन की समय सीमा भी बढ़ाई गई है।

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.