69000 शिक्षक भर्ती मामले में आज का कोर्ट अपडेट: अगली तारीख 12 फरवरी 2020

69000 शिक्षक भर्ती कोर्ट अपडेट: पढें आज का सार, अगली तारीख 12 फरवरी 2020
केस विवरण:- court no-1
Case no. 156/2019
No-2
– आज एडिशनल नंबर 02 पर सुना जाएगा केस।
-पासिंग मार्क्स मामले में सुनवाई आज शिक्षामित्र पक्ष करेगा शुरुआत…
-आज सम्भवतः लंच के पहले नंबर आ सकता है अभी फ्रेश केस सुने जा रहे हैं।
-केस नम्बर 16 गतिमान है थोड़ी देर में अवसर अपेक्षित है अपने केस के लिए ।
-शिक्षामित्र टीम आज रिटेन सबमिशन लेकर तो आयीं हैं । दाखिल करता है या नहीं आज अभी इस पर संशय । दाखिल होने पर सूचित किया जाएगा ।
-एडिशनल की सुनवाई शुरू
-केस टेक अप हुआ कोर्ट ने कहा 2.15 से सुनवाई होगी डा एल पी मिश्रा साहब व उपेन्द्र मिश्रा साहब ने केस को जल्द निस्तारित की मांग कोर्ट द्वारा की लेकिन कोर्ट ने 2.15 से फिक्स कर दिया।आज कोर्ट ने फिर डा साहब से कहा आप कैसे आपको अन्त मे करना है।अब अपने केस की सुनवाई 2.15 से होगी।
-लन्च बाद 2:15 से रहेगा केस जारी । इंतजार करें जुड़े रहें कुछ समय और शेष💐
-उपेंद्र मिश्रा सर ने डायस सम्भाला ।केस प्रारंभ ।
-69000 सुनवाई शुरू :उपेन्द्र नाथ मिश्रा डाइस पर
बीटीसी टीम अधिवक्ताओं के साथ कोर्ट रूम में मौजूद
-मिश्रा सर ने कॉम्पायलेशन पेश किया याचिका संख्या 207 पर । कुछ ऑर्डर और बिंदुओं को रेखांकित किया है उन्होंने जज साहब को अवगत कराया ।
-आप रिपीट नहीं करेंगे मिश्रा जी बाकी आप बात रखिये समस्या नहीं कोर्ट को ;- पंकज सर
-किसी भी रीट pretition पर बहस करने को जज साहब ने मना किया 1972 RTE एक्ट की बात कर रहे हैं
-पेज 12 बेसिक एक्ट 1992 रूल 19 रेट्रोस्पेक्टिव रूल विशेष परिस्थितियों में ही अनुमन्य होते हैं । यहां एक से अधिक बार भूतलक्षी संशोधन किया गया है :- मिश्रा जी ।
-20 साल में 1 लाख 72000 शिक्षामित्रों ने गांव गांव में शिक्षा की अलख जगाई थी जबतक NCTE ने नियमो में बदलाव नहीं किया :- मिश्रा जी
-जोरदार बहस जारी
-पेज 46 पैरा 1 NCTE ने मिनिमम क्वालिफिकेशन की बात की है तब तक केवल टेट पास करना था,
पेज 48 पर ब्रिज कोर्स का जिक्र है:- मिश्रा जी
-ऐजी सर के ब्रीफिंग काउन्सिल अभिनव त्रिवेदी और चंद्रा सर की जूनियर मेंहा मैडम कोर्ट रूम में मौजूद। शिक्षा मित्र का इतिहास बता रहे हैं जो कि बेमतलब की है। समय १ घंटा से ज़्यादा नहीं देने के मूड में जज
-2014 तक विशिष्ट बीटीसी करना पड़ता था बीएड अभ्यर्थियों को । पिछले 40 सालों में केवल 5 साल ही बीएड allow रहा है ।
-शिक्षामित्र के पास डिग्री नहीं थी इसलिए उनको DBTC कराया गया ।:- मिश्राजी
-उपेन्द्र मिश्रा की धारदार बहस से कोर्ट में सन्नाटा, जज बहुत ही गमबीरता से एक एक बिंदु नोट करते हुए, बहुत ही गजब की तैयारी के साथ आए हैं आज un मिश्रा।
कोर्ट सहमति प्रदान कर रही।
-एन सी टी ई का हवाला दे कर नियुक्ति और न्यूनतम योग्यता को कोर्ट को समझाते हुए-मिश्रा जी
-सुप्रीम कोर्ट ने सिर्फ टीईटी करा के भर्ती करने का आदेश दिया था…न कि कोई शिक्षक भर्ती करा के-मिश्रा जी
-बीएड एक्सटेंशन बेसिक पर प्राथमिक में लागू था…न्यूनतम अहर्ता में जोड़कर 2010, 2011, 2014 की शर्तों का उल्लंघन किया गया है।
-ATRE परीक्षा पहली बार उत्तर प्रदेश में लगाई गई । सरकार द्वारा ऐसा नया नया प्रयोग ही सरकार की मंशा को संदिग्ध दिखाता है :- मिश्राजी
-उपेन्द्र मिश्रा: हम टेट पास शिक्षामित्र को रिप्रेजेंट कर रहे हैं जो ncte द्वारा निर्धारित सभी योग्यताएं पूर्ण करते हैं इसलिए हमें अयोग्य नही बोला जा सकता है।
भारांक कोई भीख नही बल्कि हमारे अनुभव का लोहा मानते हुए सुप्रीमकोर्ट ने दिया है, जिसपर चर्चा नही की जा सकती है।
वह अब हमारा अधिकार है कोई चैरिटी नही।
-मिश्रा जी AG सर,प्रशांत चन्द्रा सर अनिल तिवारी सर को QUOTE करके गलत साबित करने का प्रयास । इन सबने साबित किया था कि सेलेक्शन प्रोसेस स्टार्ट नहीं हुआ था ।
-विपक्ष के अधिवक्ताओं की आंखों में जोइंडिस हो गया है या जानबूझकर चीजें कोर्ट से छिपा रहे हैं :- मिश्रा जी
-40 साल के इतिहास में पहली बार भर्ती में ट्रेंड और ट्रेनी में अंतर नही समझ पायी सरकार
-टीचर्स सर्विस रूल 2(w) भी रोक रहा है बैकडेट के संशोधन को
-This eligibility is the recruitment process as 22nd amendment
-उ०प्र०बेसिक शिक्षा नियावली 20वां पढ रहे है
-110पेज
-कायदे से 20वें संशोधन के अलावा कोई भी लागू नही होना चाइये।
– 25 जुलाई17 के जजमेंट को आधार बनाते हुए राज्य सरकार ने 20वा संसोधन करते हुए atre को मिनिमम योग्यता में जोड़ दिया, ध्यान रहे ncte की यह मिनीमम योग्यता में शामिल नही है,
– विज्ञापन में साफ साफ लिखा है कि यह परीक्षा 69000 शिक्षको के पदों हेतु आयोजित की जाएगी।
मतलब भर्ती के लिए, यह कोई योग्यता परीक्षा नही बल्कि चयन परीक्षा है, यह बात खुद विज्ञापन बोल रहा है।
-जुलाई12मे यू पी गवरमेट रिक्सेट टू ले डाउन
-क्वालिफेकशन
-: बी एड कन्डिडेट फार स्पेशल बी टी सी टू बीकम टीचर
-: रुगुलाईरजेशन डी बी टी सी+ग्रेजुएशन एस एम
-: रुल 16ए इज अलट्रावायरस
– फुल बेच डिसाईड
-नो रिलेक्ससन इज गिव मिननमम क्वालिफेकशन डिसाईड बाई एन सी ई टी
– एन सी टी ई डिसाईड टी ई टी 50-60%
-मिश्रा जी चालाकी के साथ ये बता रहे हैं कि जब छात्र40 45पर सीटें न भर पाए तो60 65पर कैसे भर पाएंगे ।परीक्षा के नेचर पर टिप्पणी नहीं
-इतनी बड़ी बाधा लगा दी गई है ताकि शिक्षामित्र सफल न हो पाएंगे और भारांक न देना पड़ेगा और नियुक्ति से बाहर हो जाएंगे :-मिश्राजी
-6065 वाले so smart, so genius: मिश्रा जी
-शिक्षामित्रों का इतिहास।
शिक्षामित्रों का जीवन परिचय।
शिक्षामित्रों का प्राइमरी शिक्षा में योगदान।
शिक्षामित्रों का उदय।
शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द होने के पश्चात उनके जीवन पर इसका प्रभाव। आदि मुद्दों पर बहस
-Ncte 2018 के संशोधन के बाद महीनों तक उत्तर प्रदेश सरकार ने कोई संशोधन नहीं किया :- मिश्राजी
-एक से अधिक संशोधन परीक्षा के बाद किए गए हैं ।इसलिए सभी संशोधन संदिग्ध हैं । न्यायालय को इसपर सख्त रुख रखना चाहिए :- मिश्रजी
-This eligibility is the recruitment process as 22nd amendment
-[उ०प्र०बेसिक शिक्षा नियावली 20वां पढ रहे है
– कायदे से 20वें संशोधन के अलावा कोई भी लागू नही होना चाइये
– नो अमेडमेट अप्लाई
– परीक्षा का समय 3घंटे
-प्रश्न के प्रकार के आधार पर दोनो परीक्षाए ऑब्जेक्टिव प्रश्न आधारित थी ।क्योकि 1 शब्द में उत्तर देने को भी वैकल्पिक प्रश्न कहते हैं :- मिश्राजी
-अगर 5 को लगाते आप इतना उच्च कटऑफ हम तब भी इसे चुनौती देते क्योंकि इतना अधिक कटऑफ उचित नहीं :-मिश्राजी
-® रिजवान अंसारी: जब आपके पास योग्य और निर्धारित मानक पूर्ण करने वाले अभ्यर्थी हैं तो फिर अयोग्य को क्यो शामिल किया और इसी वजह से आपको परीक्षा के बाद पासिंग मार्क लगाना पड़ा पूरा खेल तो यही है।
हम पूर्ण ट्रेंड हैं और राज्य सरकार व ncte के सभी मानक पूर्ण करते हैं तो ट्रेनी टीचर की क्या जरूरत है।
एक बनिया भी अगर किसी को नौकरी पर रखता है तो वह पहले ट्रेंड को रखता है ट्रेंड न मिलने पर वह अनट्रेंड पर विचार करता है, और अनट्रेंड को पैसा भी कम दिया जाता है।
यह पहली बार देखा जा रहा है कि अनट्रेंड का चयन हो जाए उसके लिए ट्रेंड का नुकसान किया जा रहा है।
अंधेर नगरी नही है।

:
जज साहब को सही बहस आज सुनने मिली है इसलिए ध्यान पूर्वक सुन रहे हैं अभी तक तो सिर्फ कोर्ट को गुमराह किया जा रहा था
-SC का जजमेंट आनन्द कुमार यादव ने शिक्षामित्र को कवर किया है मात्र 2 भर्ती में
इसलिए btc b.ed को चैलेंज का कोई अधिकार नहीं है
-मिश्राजी कह रहे उनके गुरु जी कह गए थे कि पहले दाएं देखो फिर बाएं देखो उसके बाद सड़क पार करो इसलिए तमाम मुद्दो को समेट कर कर रहे बहस
-पैरा165 जो व्यक्ति ATREपरीक्षा पास करेगा नियुक्ति का पात्र न होगा बस अगले चरण के लिए वैध हो जाएगा जहां फाइनल मेरिट बनेगी :मिश्राजी
-परसों की तारीख लगाई गई । लन्च बाद केस लगने की संभावना ।मिश्रा जी को उस दिन भी समय मिलेगा पर शायद वह दिन अंतिम रहेगा जो उन्हें मिले
-अगली तारीख 12 फरवरी 2020, 69000 शिक्षक भर्ती
-11 फरवरी को मा.लखनऊ खंडपीठ में बार एसोसिएशन की चुनाव के वजह से 69 हज़ार की अगली सुनवाई 12 फ़रवरी 2.15 पे मुक़र्रर मिश्रा जी कंटिन्यू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.