केंद्र व्यवस्थापकों को दिए गए टिप्स यूपी बोर्ड परीक्षा

जिस विद्यालय में एक से अधिक डीवीआर (डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर) हैं तो सभी के आइपी एड्रेस, यूजर नेम, पासवर्ड आपको बंद लिफाफे में परीक्षा कार्यालय में उपलब्ध कराने होंगे। इसकी मदद से वहां के सभी कक्ष कंट्रोल रूम से कनेक्ट किए जाएंगे। यह व्यवस्था यूपी बोर्ड 2020 की परीक्षा में पारदर्शिता लाने के लिए की गई है।

दूसरे दिन बुधवार को राजकीय जुबिली इंटर कॉलेज में डीआइओएस की अध्यक्षता में आयोजित वर्कशॉप में दिल्ली की आइटी एक्सपर्ट की टीम ने यह जानकारी 112 केंद्र व्यवस्थापकों को दी। इसके अलावा कक्ष में लगे सीसी कैमरे, राउटर से कैसे कनेक्ट होंगे और उनका संचालन कैसे होगा समेत अन्य प्रमुख ¨बदुओं पर भी उन्हें जानकारी दी गई।

ये भी पढ़ें : 50 विद्यालयों को परीक्षा कार्यालय का अल्टीमेटम

इंटरनेट की न्यूनतम स्पीड 20 एमबीपीएस होनी जरूरी : आइटी एक्सपर्ट ने केंद्र व्यवस्थापकों को बताया कि इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर से स्टैटिक आइपी एड्रेस खरीदना होगा। विद्यालय में कम से कम 20 एमबीपीएस की स्पीड होनी जरूरी है। इंटरनेट एक्सप्लोरअर पर जाकर राउटर आइपी एड्रेस भरना होगा। उसके बाद स्क्रीन पर यूजर आइडी व पासवर्ड दिखेगा। इसमें आपको राउटर का यूजर आइडी व पासवर्ड भरना होगा। वहीं डीआइओएस ने सभी केंद्र व्यवस्थापकों को बताया कि यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए राजधानी को सूबे में केंद्र और व्यवस्थाओं के मद्देनजर मॉडल बनाना है। ताकि दूसरे जनपद हमसे नसीहत लें। इसके लिए आपको पूरी तरह से तैयार रहना है। पहली प्राथमिकता नकल विहीन परीक्षा कराना है। केंद्रों की लगभग यूपी बोर्ड परीक्षा से संबंधित तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा कभी भी आपके केंद्रों का औचक निरीक्षण कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.