पीजीटी का रिजल्ट टीजीटी से पहले, पीजीटी की भर्ती पूरी होने में लगेगा समय

प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी) की परीक्षा भले प्रवक्ता संवर्ग (पीजीटी) से दस दिन पहले हुई थी, लेकिन परिणाम पीजीटी के बाद आएगा। ऐसा इसलिए कि पीजीटी में साक्षात्कार (इंटरव्यू) होने के कारण भर्ती प्रक्रिया पूरी करने में समय लगेगा और भर्ती प्रक्रिया सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक अक्टूबर तक पूरी करनी है। इसके विपरीत टीजीटी परीक्षा का परिणाम घोषित करने के बाद चयनित अभ्यर्थियों को कालेज आवंटित किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने 12,603 पदों के लिए टीजीटी की परीक्षा प्रदेश के सभी जिलों में सात एवं आठ अगस्त को कराई थी। इसमें साक्षात्कार नहीं होना है। इसी तरह पीजीटी की परीक्षा भी प्रदेश के सभी जिलों में दो पालियों में आयोजित की गई थी। 2,595 पदों के लिए यह परीक्षा 17 एवं 18 अगस्त को हुई थी। इसमें साक्षात्कार होना है, इसलिए एक पद के सापेक्ष तीन अभ्यर्थियों का चयन लिखित परीक्षा में करने की तैयारी चयन बोर्ड कर रहा है। इस तरह करीब 7,800 अभ्यर्थी साक्षात्कार के लिए बुलाए जाएंगे। अभ्यर्थियों के ज्यादा होने से साक्षात्कार की प्रक्रिया लगभग 20 दिन चलने का अनुमान है। ऐसे में इसका परिणाम पहले घोषित कर साक्षात्कार की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इंटरव्यू प्रक्रिया पूरी होने के बाद फाइनल चयन परिणाम जारी किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड को 31 अक्टूबर तक यह भर्ती प्रक्रिया पूरी करनी है। इसलिए उत्तरमाला पर आई आपत्तियों को निस्तारित कराने की प्रक्रिया पर भी तेजी से कार्य चल रहा है। चयन बोर्ड के उप सचिव/परीक्षा नियंत्रक नवल किशोर ने बताया कि उत्तरमाला पर आई आपत्तियों पर विषय विशेषज्ञों की समिति अंतिम निर्णय लेगी। उसी आधार पर उत्तरमाला संशोधित करने के बाद परिणाम जारी किया जाएगा। चयन बोर्ड इसी अनुरूप तैयारी कर रहा है कि यह भर्ती प्रक्रिया तय समय सीमा 31 अक्टूबर तक पूरी कर ली जाए।

यह भी पढ़ेंः  67 फीसद अभ्यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी टीजीटी परीक्षा