त्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम

  

Examरविवार को होने वाली उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी) के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। परीक्षा केंद्रों पर सख्त पहरा बनाए रखने के लिए पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती की जाएगी। नकल माफिया पर नकेल कसने के लिए एसटीएफ हाई अलर्ट पर है। सभी जिलों में एलआईयू पहले से ही सक्रिय है।

परीक्षा की शुचिता एवं पवित्रता बनाए रखने के लिए डीजीपी मुख्यालय खुद सक्रिय है। बेसिक शिक्षा विभाग ने इस संबंध में डीजीपी को पत्र भी लिखा था। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि जोन, रेंज व जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी परीक्षा व्यवस्था पर नजर रखेंगे। उन्हें संवेदनशील केंद्रों का दौरा करने के निर्देश भी दिए गए हैं। प्रशासन व पुलिस का पूरा जोर सोशल मीडिया पर पेपर लीक की अफवाह रोकने पर है। परीक्षा केन्द्र की 200 मीटर की परिधि में आने-जाने पर रोक रहेगी।

सीसीटीवी के जरिए कंट्रोल रूम से रखेंगे नजर
परीक्षा केंद्र की गतिविधियों पर राज्य स्तर पर बनाए कंट्रोल रूम से सीसीटीवी के जरिए नजर रखी जाएगी। सोशल मीडिया के माध्यम से भ्रामक सूचना फैलाने वालों पर तत्काल साइबर अपराध नियंत्रण कानून के तहत कठोर कार्रवाई और एफआईआर की जाएगी। प्रश्नपत्र व ओएमआर शीट को कोषागार के डबल लॉकर से ले जाने की जिम्मेदारी स्टैटिक मजिस्ट्रेट की होगी। परीक्षा केन्द्र के भीतर उपस्थित अधिकारी, पर्यवेक्षक, व्यवस्थापक के पास मोबाइल फोन, इलेक्ट्रानिक डिवाइस या कैमरा नहीं होना चाहिए।
राज्य शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी-2021) रविवार को आयोजित की जा रही है। लखनऊ जनपद में इसके लिए 99 केन्द्र बनाए गए हैं जिनपर एक लाख 23 हजार अभ्यर्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा में नकल रोकने के लिए सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए जा रहे हैं। सख्ती इतनी रहेगी कि अभ्यर्थियों के साथ-साथ केन्द्र पर मौजूद अधिकारियों, केन्द्र व्यवस्थापकों, पर्यवेक्षकों तक को मोबाइल आदि रखने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

परीक्षा दो पालियों में होगी। पहली पाली में सुबह 10 से दोपहर 12:30 बजे तक परीक्षा होगी। वहीं दूसरी पाली में दोपहर 2:30 से शाम 5 बजे तक परीक्षा आयोजित की जाएगी।

पहली पाली की परीक्षा जनपद में बनाए गए 99 केन्द्रों पर होगी वहीं दोपहर की पाली में 72 केन्द्र रहेंगे। परीक्षा की तैयारियों और सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस व प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है। जानकारी केर अनुसार सीसीटीवी कैमरे से परीक्षा केन्द्रों की निगरानी की जाएगी।

सुविधा: परीक्षार्थियों के लिए 50 अतिरिक्त बसें

परीक्षार्थियों के लिए लखनऊ से दूसरे शहरों के लिए 50 अतिरिक्त रोडवेज बसें चलाई जाएंगी। वहीं शहर के भीतर, पंरीक्षा केन्द्र तक परीक्षार्थियों को पहुंचाने के लिए चारबाग रेलवे स्टेशन और बस अड्डे से इलेक्ट्रिक सिटी बसें चलेंगी। सिटी ट्रांसपोर्ट के एमडी पल्लव बोस ने अधिकारियों के साथ बैठक की। चारबाग रेलवे स्टेशन के पास रविंद्रालय गेट से और विभिन्न बस अड्डों से बसें चलाने के निर्देश दिए हैं। परीक्षार्थियों को वापस भेजने के लिए अतिरिक्त रोडवेज बसों के इंतजाम हैं। स्पेशल बसें चारबाग, कैसरबाग व आलमबाग बस अड्डे से मिलेंगी।

निर्देश: मोबाइल की मनाही, मास्क जरूरी

● परीक्षा केन्द्र में मोबाइल या अन्य उपकरण ले जाने की अनुमति नहीं ● केन्द्र पर मौजूद अधिकारियों, पर्यवेक्षकों, केन्द्र व्यवस्थापकों को भी मोबाइल या कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण रखने की अनुमति नहीं है ● एडमिट कार्ड का प्रिंटआउट ले जाना अनिवार्य है ● वैध फोटो पहचान पत्र अनिवार्य है ● रिपोर्टिंग टाइम पर केन्द्र पहुंचना है ● सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए केन्द्र में प्रवेश एक घंटे पहले शुरू हो जाएंगे ● मास्क के बिना प्रवेश नहीं मिलेगा।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *