मिशन शक्ति का तीसरा चरण 21 अगस्त से शुरू होकर दिसंबर तक चलेगा

लखनऊ : मिशन शक्ति का तीसरा चरण 21 अगस्त से शुरू होकर दिसंबर तक चलेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को तीसरे चरण के प्रस्तावित कार्यक्रमों की कार्ययोजना का प्रस्तुतीकरण देखा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं व बालिकाओं के सम्मान एवं सुरक्षा के लिए संचालित वीमेन हेल्पलाइन ‘1090’ का व्यापक प्रचार-प्रसार ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाए। योगी ने अन्य हेल्पलाइन 181 व 112 का भी व्यापक प्रचार-प्रसार ग्रामीण क्षेत्रों में करने और महिलाओं व बालिकाओं के लिए संचालित विभिन्न सरकारी योजनाओं की जानकारी उन्हें दिए जाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने महिलाओं को संस्थागत प्रसव के तहत सहायता राशि समय से उपलब्ध कराने को कहा। साथ ही बालिकाओं के लिए लागू की जा रही बेसिक, माध्यमिक व उच्च शिक्षा की विभिन्न योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाने और उन्हें अच्छी शिक्षा प्रदान करने के निर्देश दिए, ताकि वे स्वावलंबी बन सकें।

यह भी पढ़ेंः  69000 शिक्षक भर्ती से वंचित अभ्यर्थियों ने सोशल मीडिया को बनाया हथियार

मुख्यमंत्री ने आंगनबाड़ी और आशा वर्कर को और प्रभावी बनाने तथा रेलवे, बस स्टेशन व धार्मिक स्थलों पर मौजूद निराश्रित महिलाओं एवं बच्चों को संरक्षण गृहों में रखकर उनका पुनर्वास करने को कहा। महिलाओं एवं बालिकाओं के लिए अलग पार्क और जिम की व्यवस्था की जाए जहां वे सुविधापूर्वक अभ्यास कर सकें। मुख्यमंत्री ने हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी रक्षा बंधन के पर्व पर महिलाओं को परिवहन निगम की बसों में मुफ्त यात्र की सुविधा उपलब्ध कराने को भी कहा।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि 21 अगस्त को मिशन शक्ति फेज-3 का मुख्य कार्यक्रम गृह विभाग तथा महिला कल्याण विभाग द्वारा संयुक्त रूप से लखनऊ में आयोजित किया जाएगा। जिला स्तर पर 59 हजार ग्राम पंचायत भवनों में मिशन शक्ति कक्ष का शुभारंभ किया जाना प्रस्तावित है। कार्यक्रम से 200 महिलाओं को जोड़ा जाएगा। एक करोड़ से अधिक महिलाओं तक उत्तर प्रदेश सरकार का संदेश पहुंचाया जाएगा। ग्राम पंचायतों तथा जनपदीय कार्यक्रम में राज्यस्तरीय कार्यक्रम का सजीव प्रसारण किया जाएगा। प्रत्येक कार्यक्रम में एक मास्क व एक राखी का वितरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मिशन शक्ति को अमृत महोत्सव व अगस्त क्रांति (नौ अगस्त) से जोड़ने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों तथा शहीदों के स्वजन कार्यक्रम में आमंत्रित किए जाएं।

यह भी पढ़ेंः  45 दिन तक परिषदीय स्कूलों में अनुपस्थित बच्चों के घर जाएंगे गुरुजी

दिसंबर तक चलेंगे कार्यक्रम, लखनऊ में होगा मुख्य आयोजन, एक करोड़ महिलाएं देखेंगी सजीव प्रसारण