नई शिक्षक भर्ती घोषित करने की मांग लेकर लाखों टीईटी व सीटीईटी उत्तीर्ण प्रशिक्षु व अन्य प्रतियोगियों ने सोसल मीडिया पर चलाया था अभियान

प्रयागराज : प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में नई शिक्षक भर्ती की मुहिम तेज हो गई है। लाखों टीईटी व सीटीईटी उत्तीर्ण प्रशिक्षु व अन्य प्रतियोगी अभी तक आनलाइन धरना व इंटरनेट मीडिया पर अभियान छेड़े थे, अब जुलाई से आंदोलन करने का अल्टीमेटम दिया गया है। दावा है कि बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री ने भर्ती निकालने का वादा किया था और बेसिक शिक्षा विभाग ने कोर्ट ने रिक्त पदों का ब्योरा भी दिया था।

डीएलएड के सभी संगठनों की बैठक ऑनलाइन मोड में सोमवार को हुई, जिसमें प्रदेश पदाधिकारियों की ओर से उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2020 और आगामी प्राथमिक शिक्षकों के रिक्त पदों पर विज्ञापन व भर्ती प्रक्रिया संबंधी प्रकरण पर अपनी बातें रखीं। कहा गया कि 30 जून तक सरकार भर्ती का ऐलान करे, अन्यथा जुलाई के प्रथम सप्ताह से लाखों प्रशिक्षु आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। उनकी मांग है कि 51,112 पद प्राथमिक शिक्षकों के रिक्त हैं। इन पदों पर भर्ती आगामी छह माह में परीक्षा कराकर सरकार नियुक्ति पत्र दें। प्रशिक्षुओं ने कहा कि तीन माह में टीईटी और दो माह में भर्ती की लिखित परीक्षा हो सकती है।

प्रशिक्षुओं ने यह भी कहा कि बेसिक शिक्षा मंत्री ने वादा किया था कि वे कार्यकाल के अंतिम वर्ष में शिक्षक भर्ती का विज्ञापन जारी करेंगे अब वादा पूरा करें। आनलाइन बैठक में अभिषेक तिवारी, रजत सिंह, विकास राजपूत, राहुल यादव, अनंत प्रताप सिंह, पवन पांडेय, पंकज मिश्र आदि थे।