शिक्षक नहीं करेंगे किताबों की ढुलाई का कार्य: राजीव यादव

मैनपुरी। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक रविवार को शहर स्थित संघ कार्यालय पर हुई। बैठक में निशुल्क पाठ्य पुस्तकों के उठान के मुद्दे पर चर्चा हुई। शिक्षकों ने किसी भी हाल में पाठ्य पुस्तकों का उठान बीआरसी अथवा संकुल केंद्रों से नहीं करने का निर्णय लिया। जिलाध्यक्ष राजीव यादव ने कहा कि शिक्षक अब किसी कीमत पर बीआरसी और संकुल से पाठ्यपुस्तकें उठाने के लिए नहीं जाएंगे

जिलाध्यक्ष ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस बार भी शिक्षको को स्वयं के खर्चे पर नि:शुल्क पाठ्य पुस्तकों का उठान बीआरसी से करना पड़ रहा है जबकि शासन से बजट का अनुमोदन विद्यालय स्तर तक का किया गया है। संगठन ने निर्णय लिया है कि विभाग की इस कार्यशैली को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जिला मंत्री महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि जिम्मेदार अधिकारी टेंडर न होने का बहाना बनाकर अपनी जिम्मेदारी से अब बच नहीं सकेंगे। नि:शुल्क पाठ्य पुस्तकों को हर हाल में विद्यालय तक पहुंचाना ही होगा। शिक्षक किसी भी स्थिति में बीआरसी अथवा संकुल केंद्रों से किताबों का उठान नहीं करेंगे। हरिओम दुबे ने कहा कि बीआरसी केंद्र पर भीड़ के बीच शिक्षक पुस्तकें उठाने पहुंच रहे हैं। पिछले साल कई शिक्षक- शिक्षिकाएं कोरोना की चपेट में आए थे।

यह भी पढ़ेंः  प्रतियोगियों ने मांगी नई भर्ती व अटकी नियुक्ति

बैठक में सत्यवीर सिंह, कमलेश यादव, केपी सिंह, हरिओम दुबे, सत्यप्रकाश, प्रदीप यादव, जितेंद्र कुमार, कमलेश यादव, योगेश कुमार, कौशल गुप्ता, दलवीर कठेरिया, डॉ. आलोक शाक्य अशोकपाल, राजीव गुप्ता आदि मौजूद रहे।