राशनकार्ड सत्यापन के लिए संघ और प्रशासन में ठनी, शिक्षकों का बहिष्कार

  

राशनकार्ड सत्यापन कार्य में लेखपालों के विरोध के बाद शिक्षकों की ड्यूटी लगने पर शिक्षक संघ ने कार्य बहिष्कार कर दिया। डीएम के निर्देश पर बीएसए ने कार्य से विरत शिक्षकों पर एफ आइआर दर्ज कराने की धमकी दी है। जिससे शिक्षक संघ और बीएसए में ठन गयी है। प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष अशोक कुमार मिश्र ने बताया कि कोर्ट ने स्पष्ट रूप से निर्देश दे रखा है कि शिक्षकों को जनगणना और चुनाव जैसे राष्ट्रीय कार्यक्रमों को छोड़ कर शिक्षकों की ड्यूटी गैर शैक्षणिक कार्यक्रमों में न लगायी जाए।

बावजूद इसके जिला प्रशासन मनमानी पर उतरते हुए राशनकार्ड सत्यापन में शिक्षकों की ड्यूटी लगाकर अब एफ आइआर दर्ज कराने की बात कह दबाव बना रहा है। जूनियर संघ के जिलाध्यक्ष अब्दुल रसीद का कहना है कि एफ आइआर दर्ज कराने की धमकी देने वाले बीएसए खुद यह बात जानते हैं कि शिक्षक इस समय हाउस होल्ड सर्वे और स्कूल चलो अभियान में संलग्न है। इसकेबाद भी शिक्षकों को राशनकार्ड सत्यापन कार्य में लगाया जाना नितांत अतार्किक है। शिक्षक संघ शिक्षकों से ड्यूटी का बहिष्कार करने की अपील कर रहा है। जबकि प्रशासन ड्यूटी के लिए दबाव बना रहा है। संघ के पदाधिकारियों का कहना है कि यदि शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों में लगाया जाता है तो शिक्षक आंदोलन की राह पकड़ लेंगे।