लोकसभा चुनाव से पहले बड़ी शिक्षक भर्ती की योजना

उत्तर प्रदेश सरकार लोकसभा चुनाव से पहले एक बहुत बड़ी शिक्षक भर्ती कराने की योजना बना रही है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए प्रदेश सरकार 95,445 शिक्षक पदों पर जल्द भर्ती प्रक्रिया शुरू करने जा रही है। प्रदेश सरकार लोकसभा चुनाव में कोई जोखिम नहीं उठाना चाहती इसलिए ये भर्ती प्रक्रिया दिसंबर से पहले करने की योजना बना रही है। क्यों की उपचुनाव में हार का सामना करना पड़ा था। लोकसभ चुनाव की अधिसूचना जारी होने से पहले प्रदेश सरकार इस भर्ती प्रक्रिया की शुरआत करने के मूड में में है।

अगर लोकसभा इलेक्शन अभी नहीं होते तो सरकार इस भर्ती प्रक्रिया को फरवरी 2019 में करने की योजना थी मगर 2019 में होने वाले लोकसभा को मद्देनजर रखते हुए अब प्रदेश सरकार इस भर्ती को दिसंबर से पहले करने की सोच रही है। पिछले दिनों हुई एक उच्च स्तरीय बैठक में परीक्षा नियामक अधिकारी और बेसिक शिक्षा अधिकारी के सचिवों को भर्ती जल्द कराने के निर्देश दिए है। यूपी टीईटी 2018 की परीक्षा अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में ली जाएगी और उत्तर प्रदेश टीईटी 2018 परिणाम आने के साथ ही भर्ती की लिखित परीक्षा होगी। इसके रिजल्ट के साथ ही भर्ती का विज्ञापन भी जारी होगा।

शिक्षामित्रों के समायोजन होने के बाद प्रदेश में के बाद 137000 शिक्षकों के पद रिक्त हो गए है। रिक्त पदों पर को 2 चक्र में भरने की योजना है। प्रदेश में 68 500 पर शिक्षक भर्ती चल रही। लेकिन इस भर्ती में केवल 41555 अभ्यर्थी ही पात्र पाए गए है, लिहाजा बचे हुए 26945 पद अगले 68500 पदों में जोड़ दिए जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.