ज्ञापन देकर शिक्षकों ने प्रेरणा एप का किया विरोध

  

लखनऊ : प्रेरणा एप के चलते शिक्षकों हो रही परेशानी के चलते विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन यूपी के जिला इकाई के पदाधिकारियों ने प्रेरणा एप का विरोध किया है। उन्होंने एडीएम पश्चिम संतोष कुमार के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन भेजा है।

एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष संतोष तिवारी, शालिनी मिश्र, जिलाध्यक्ष रचना पांडेय व अन्य कार्यकर्ता इस दौरान मौजूद थे। ज्ञापन के माध्यम से बताया गया कि सेल्फी द्वारा उपस्थिति दर्ज कराए जाने की प्रक्रिया पूरी तरह से अव्यावहारिक है। ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों में एक अध्यापक ही तो है जो अपने निहित स्थान पर मिलता है। बेसिक शिक्षा जो खामिया है उनका जिम्मेदार अकेले शिक्षक ही नहीं है। भ्रष्टाचार इसकी एक बड़ी वजह है। अधिकतर स्कूल मात्र दो शिक्षकों के ही भरोसे चल रहे हैं। विद्यालयों में सुविधा के नाम पर कुछ नहीं है। बेसिक शिक्षा दिन प्रति दिन नए नए प्रयोग किये जा रहे है जिससे शिक्षकों का कार्य बढ़ाते जा रहे हैं। प्रेरणा एप के जरिये शिक्षक-शिक्षिकाओं एवं बच्चों की उपस्थिति व सूचनाओं की फीडिंग के निर्णय से शिक्षक समाज असंतुष्ट है।

एप पर सूचना न भेजने पर दो शिक्षिकाओं को नोटिस : ‘प्रेरणा’ एप पर शहर के शिक्षक सूचनाएं भेजने में हीलाहवाली कर रहे हैं। ऐसे में दो शिक्षिकाओं को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा गया है। बीएसए डॉ. अमरकांत के मुताबिक सरोजनी नगर मेमौरा प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिका सरोज वर्मा एप पर सूचनाएं नहीं भेज रही हैं। ऐसे में दो शिक्षिकाओं को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा गया है। बीएसए डॉ. अमरकांत के मुताबिक सरोजनी नगर मेमौरा प्राथमिक विद्यालय की शिक्षिका सरोज वर्मा एप पर सूचनाएं नहीं भेज रही हैं।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *