12 से 18 लाख रुपये लेकर सरकारी शिक्षक बनाने वाला गिरोह सक्रिय

अलीगढ़ जिले में 12 से 18 लाख रुपये लेकर सरकारी शिक्षक बनाने वाला गिरोह सक्रिय है। कुछ कॉलेज संचालक अपने संस्थान को एडेड व ग्रांट पर आने की बात कहकर लोगों को उसमें शिक्षक बनाने का ‘खेल’ कर रहे हैं। एमएचआरडी व समाज कल्याण विभाग के आदेशों का हवाला देकर लोगों से लाखों रुपये ठगे जा रहे हैं। मामला तब सामने आया, जब छात्रनेता अमित गोस्वामी ने इन ठेकेदारों का वीडियो व ऑडियो बनाकर दैनिक जागरण से साझा किया। मंगलवार को वे शिकायत डीएम व एसएसपी से करेंगे। आप भी सुनिए नौकरी के इस खेल की चर्चा..।

अमित ने बताया कि दुर्गा दास इंटर कॉलेज खैर किले का नगला के मालिक एके सिंह वीडियो में बोल रहे हैं कि खैर के आठ लोग लाइन में हैं। बीएड में पांच साल गै¨पग, टेट के बाद किया हो और उम्र 2010 तक 21 वर्ष हो। रुपये देने के तीन महीने तक नौकरी लग जाएगी। प्राइमरी में लगने के 15 लाख, बीएड किया है तो प्रवक्ता पद पर 16 से 18 लाख रुपये देने होंगे। एक तिहाई राशि पेपर देने के समय देनी होगी।

एके सिंह का कहना : दैनिक जागरण टीम ने एके सिंह से इस बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि वो दोपहर से ही पी लेते हैं, दो दिन पहले जीआइसी के पास कुछ लोग पीने-खाने वाले साथ थे, उन्हीं में से किसी ने वीडियो बनाया है। पीने-खाने की स्थिति में मुंह से कुछ बोल दिया होगा। इस बारे में उन्हें कुछ नहीं मालूम।

मेरे दो स्कूल एडेड हो गए : अमित ने बताया कि ऑडियो में पंचशील सिटी पब्लिक स्कूल खैर के मदन शर्मा बता रहे हैं कि उनके दो स्कूल ऐड पर हो गए हैं। उनमें तो जगह फुल हो गई है। समाज कल्याण विभाग मॉनिटरिंग कर रहा है, केंद्र सरकार एडेड कर रही है। तुम अपना काम देवीचरन के स्कूल में करा लो, उनका भी प्राइमरी स्कूल एडेड सूची में आ गया है। पंडित रामप्रसाद गौड़ इंटर कॉलेज खैर भी एडेड सूची में आ गया है।

रामप्रसाद कॉलेज के दीपक गौड़ बोले : नीति आयोग की साइट पर आदेश हैं, एमएचआरडी से स्कूल एडेड किए जा रहे हैं। साइट पर आवेदन किए गए हैं, इसी के आधार पर एडेड हो रहे हैं। दैनिक जागरण की टीम ने जब दीपक से बात की तो जवाब मिला कि आदेश एमएचआरडी की साइट पर ही है। रुपये लेकर नौकरी लगाने की कोई जानकारी नहीं है। मदन शर्मा उनके कॉलेज में डायरेक्टर हैं।

इसकी जानकारी हुई है, ये गलत है। समाज कल्याण अधिकारी से भी बात की तो उन्होंने कहा कि, विभाग से ऐसी कोई प्रक्रिया नहीं की जा रही है। डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय, बीएसए

ऐसे गिरोह करोड़ों का खेल व सरकार की छवि धूमिल कर रहे हैं। डीएम व एसएसपी से शिकायत होगी। मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। अमित गोस्वामी, छात्रनेता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.