शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े की जाँच कर रही एसटीएफ ने उठाया

Arrestपरीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में तैनात एक बाबू को कार से आए लोग उठा ले गए। परेशान परिजन अपहरण की आशंका से सहमे हुए नैनी थाने पहुंचे। नैनी पुलिस ने बातचीत के बाद बताया कि एसटीएफ किसी मामले में पूछताछ के लिए ले गई। इसकी जानकारी कार्यालय के कर्मचारियों को हुई तो खलबली मच गई। मामले की सूचना कर्मचारियों ने अफसरों को दी।

परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय के कर्मचारियों ने एसएसपी से मिलने के बाद एसटीएफ कार्यालय पहुंचे। वहां से पता चला कि लखनऊ एसटीएफ की निशानदेही पर उठाया गया है। किसी मामले में एसटीएफ की टीम ने उक्त बाबू को पूछताछ के लिए उठाया है। वहीं इस मामले को लेकर परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में दिनभर चर्चाओं को बाजार गरम रहा।

यह भी पढ़ेंः  68500 भर्ती के दूसरे रिजल्ट को जारी करने के लिए किया कार्यालय का घेराव

लोग कयास लगाते रहे कि आखिर किस मामले में कर्मचारी को उठाया है। जबकि जिस बाबू को उठाया गया है, उसकी कार्यालय में अच्छी छवि है। वह किसी ऐसी जगह पर तैनात भी नहीं है। जहां से उसकी किसी मामले में संलिप्तता हो। वहीं इस मामले में सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय का कहना है कि वह दो दिन से बाहर हैं। उन्हें इस मामले की जानकारी है।