टीईटी पेपर लीक मामले में सचिव परीक्षा नियामक संजय गिरफ्तार

  

Arrestलखनऊ: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 का प्रश्नपत्र लीक मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कड़े निर्देशों के बाद विशेष कार्य बल (एसटीएफ) ने एक और बड़ी कार्रवाई की है। दिल्ली की चहेती कंपनी को नियमों को दरकिनार कर प्रश्नपत्र मुद्रण का काम देने के दोषी पाए गए परीक्षा नियामक प्राधिकारी के निलंबित सचिव संजय उपाध्याय को गिरफ्तार कर लिया गया है।

प्रश्नपत्र छापने का ठेका लेने वाली कंपनी आरएसएम फिनसर्व लिमिटेड के निदेशक राय अनूप प्रसाद से पूछताछ में संजय की संलिप्तता सामने आने के बाद यह कार्रवाई की गई। शासन ने संजय को मंगलवार को निलंबित किया था। एसटीएफ की नजर अब कई और आरोपितों पर टिकी है। पेपर लीक करने वालों से लेकर साल्वर गिरोह के कई सदस्यों की तलाश चल रही है। एसटीएफ की जांच में सामने आया है कि संजय और अनूप पहले से एक-दूसरे को जानते थे। अनूप की कंपनी के पास सिक्योरिटी प्रिंटिंग की कोई सुविधा उपलब्ध नहीं थी। इसकी जानकारी होने के बाद भी संजय ने अनूप की कंपनी को बिना कोई गोपनीय जांच कराए ही वर्क आर्डर दिया और उसकी प्रिंटिंग प्रेस का निरीक्षण तक नहीं किया गया। एसटीएफ की जांच में संजय को सरकारी धन का दुरुपयोग करने का भी दोषी पाया गया है। सिक्योरिटी प्रिंटिंग में एक प्रश्नपत्र के मुद्रण में 50 रुपये तक खर्च आता है।

जो साधारण प्रिंटिंग की तुलना में काफी अधिक होता है। इन सभी तथ्यों की जानकारी होने के बाद भी एक ऐसी कंपनी को मुद्रण का काम दिया गया, जो एक भी मानक को पूरा नहीं करती थी। आरएसएम फिनसर्व लिमिटेड ने चार अलग-अलग साधारण प्रिंटिंग प्रेस में प्रश्नपत्र छपवाए थे। सुरक्षा मानकों की अनदेखी के कारण प्रश्नपत्र लीक हो गया था। इन तथ्यों के सामने आने के बाद संजय को एसटीएफ मुख्यालय बुलाकर लंबी पूछताछ की गई थी, जिसमें वह चहेती कंपनी को वर्क आर्डर देने को लेकर कोई संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके। एडीजी एसटीएफ अमिताभ यश का कहना है कि पूछताछ में मामले में संजय की संलिप्तता पाई गई। गाजीपुर के ग्राम चकिया निवासी संजय को गौतमबुद्धनगर के सूरजपुर थाने में अनूप व अन्य के विरुद्ध दर्ज कराए गए मुकदमे के तहत गिरफ्तार किया गया है। नोएडा के होटल में हुई थी डील 2।

’कंपनी के पास सिक्योरिटी प्रिंटिंग की सुविधा नहीं थी, दूसरी प्रेस में छपवाए थे प्रश्नपत्र ’एसटीएफ ने तेज की पेपर लीक करने वालों व साल्वर गिरोह के सदस्यों की तलाश

गिरफ्तार निदेशक अनूप के तीन साथियों की तलाश इस मामले में एसटीएफ ने एक दिन पूर्व ही आरएसएम फिनसर्व लिमिटेड के निदेशक राय अनूप प्रसाद को गिरफ्तार किया था और उसके तीन साथियों की तलाश की जा रही है। एसटीएफ पेपर लीक मामले में प्रयागराज, गौतमबुद्धनगर, लखनऊ, अयोध्या, कौशांबी, बागपत और शामली में 10 मुकदमे दर्ज कराकर 45 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। इनमें सबसे अधिक 18 आरोपित प्रयागराज में गिरफ्तार किए गए हैं।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *