विज्ञान-गणित शिक्षकों के भरे जाएं रिक्त पद

  

इलाहाबाद : डीएड प्रशिक्षण उम्मीदवारों को मौका देने के बाद अब विज्ञान और गणित के शिक्षक भारती का मामला सतह पर आ गया है। हाईकोर्ट 30 दिसंबर 2016 को ही दो महीने में रिक्त पद भरने का आदेश दे चुका है। परिषद की भर्तियों से रोक हटने के बाद यह प्रक्रिया पूरी कराने की जोर पकड़ गई है। बुनियादी शिक्षा परिषद के उच्च प्रथमिक स्कूलों में 29334 विज्ञान और गणित शिक्षकों की भर्ती हुई थी। इन पदों को भरने के लिए कई चरण की परामर्श के बाद भी लगभग सात हजार पद खाली रह गए हैं। यह संख्या जिलों से RTI के जरिये मिली है। यह पद भरने का आदेश नहीं हो रहा था जैसे में नीरज कुमार पांडेय व अन्य ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की। न्यायालय की ओर से यह भर्ती दो महीने में पूरी करने को कहा गया। इसके काउंसिलिंग में पहले विधानसभा चुनाव की आचार संहिता फिर भर्तियों पर शुरू हुई आड़े आई। बीते तीन नवंबर को हाईकोर्ट ने परिषद की भर्तियों से रोक हटा ली है।

अब अभ्यर्थियों ने परिषद सचिव को ज्ञापन सौंप दिया है जिसमें कहा गया है कि इस भर्ती को पूरा करने का आदेश जारी किया जाएगा। अभ्यर्थियों का यह भी कहना है कि बड़ी संख्या में योग्य आवेदक राज्य में मौजूद हैं। इसके बाद भी शिक्षकों की भर्ती नहीं हो रही है, यह न्यायालय की अवमानना ​​भी है साथ ही योग्य युवा बेरोजगार परेशान हैं। परिषद कार्यालय ने उन्हें आश्वस्त किया कि उनकी पर विचार हो रहा है, जल्द ही इस दिशा में आगे आगे बढ़ेगी। यहां जूनियर नियुक्ति मोर्चा के अमित मिश्र, निसार अहमद अंसारी, अवनीश कुमार, राहुल मिश्र, विनय प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे। जिलों से मिली आरटीआई में करीब सात हजार पद खाली होने का दावा हाईकोर्ट 30 दिसंबर 16 को दो महीने में पद भरने का कर दिया गया है

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *