विद्यालयों में वर्ष 2020 में 34 दिन रहेगी छुट्टी

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक, उच्च प्राथमिक व मान्यता प्राप्त बेसिक विद्यालयों के लिए नए साल की अवकाश तालिका जारी हो गई है। परिषद के स्कूलों में 34 दिन छुट्टी रहेगी, उन दिवसों की सूची घोषित की है, वहीं 21 मई से 30 जून तक ग्रीष्मावकाश रहेगा। होली पर तीन दिन और दीपावली पर चार दिन स्कूलों में अवकाश रहेगा। सभी बीएसए को निर्देश दिया गया है कि अवकाश तालिका के अलावा कोई अवकाश किसी भी स्तर पर नहीं दिया जाएगा।

नया साल शुरू होने में चंद दिन शेष हैं। बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से गुरुवार को जारी अवकाश कैलेंडर में पहला अवकाश दो जनवरी को गुरु गो¨वद सिंह जयंती का है। उप सचिव अनिल कुमार ने बताया कि 2020 में परिषदीय स्कूलों में 115 दिन अवकाश और 250 दिन पढ़ाई होगी। त्योहारों व जयंती के 34 अवकाश, 40 दिन का ग्रीष्मावकाश है, जबकि 41 रविवार को स्कूल बंद रहेंगे। घोषित पांच छुट्टियों में शिक्षण कार्य स्थगित रहेगा। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर डीएम सिर्फ दो दिन का अधिकतम अवकाश दे सकते हैं। अन्य आयोजनों में स्कूल बंद नहीं होंगे। मुस्लिम त्योहार चंद्र दर्शन के अनुसार बदल सकते हैं। हरितालिका तीज, करवा चौथ, संकट चतुर्थी, हलषष्ठी व अहोई अष्टमी में केवल शिक्षिकाओं को अवकाश दिया जाएगा। उप सचिव ने अवकाश सूची अधिकारियों को भेज दी है।

यह भी पढ़ेंः  स्कूलों में विद्यालय प्रबंध समितियों (SMC) का गठन 30 नवंबर तक, ऐसे होगा पुनर्गठन, पढें विस्तृत

ये त्योहार रविवार को

परिषद की ओर से घोषित कई अवकाश रविवार को ही पड़ रहे हैं। इसमें पहला अवकाश गणतंत्र दिवस का है। दूसरा संत रविदास जयंती, तीसरा दशहरा, चौथा मुहर्रम व पांचवां गोवर्धन पूजा का है। वहीं, गणतंत्र दिवस, संत रविदास जयंती, डा. भीमराव आंबेडकर जन्म दिवस, स्वतंत्रता दिवस और महात्मा गांधी जयंती पर शिक्षण कार्य स्थगित रहेगा। इन दिवसों पर शिक्षक व छात्र स्कूल में उपस्थित होकर सांस्कृतिक कार्यक्रम व गोष्ठी में उपस्थित रहेंगे।

रैलियों के बाद छुट्टी नहीं

उप सचिव ने स्पष्ट किया है कि मंडलीय या फिर जिला रैली के बाद स्कूल बंद हो जाते हैं, अब ऐसा होने पर अधिकारी पर कार्रवाई होगी। स्कूलों का समय बदल दिया जाता है, ऐसा नहीं होना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः  अपडेट फार्म नहीं भरने वाले अभ्यर्थी टीजीटी परीक्षा से बाहर

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.