एक सप्ताह के लिए विद्यालय बंद, घर भेजी गईं छात्राएं

  

बसालखनऊ : मोहान रोड स्थित राजकीय आश्रम पद्धति बालिका विद्यालय में बासी खाना देने के मामले में दो दिन चला हंगामा मंगलवार को छात्रओं की छुट़्टी के साथ समाप्त हुआ। समाज कल्याण विभाग ने एहतियातन एक सप्ताह के लिए अवकाश घोषित किया है। साथ ही कक्षा छह से नौ व कक्षा 11 की छात्रओं के अभिभावकों को सूचित कर उन्हें घर ले जाने और एक सप्ताह बाद विद्यालय के नियमों के पालन और अनुशासन में रहने के शपथ पत्र के साथ वापस लाने का निर्देश दिया है।

निदेशक समाज कल्याण राकेश कुमार ने बताया कि छात्रओं को भड़काने के मामले में विद्यालय के शिक्षकों, अधिकारियों और कर्मचारियों की गुप्त रिपोर्ट तैयार की गई है। आरोपितों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले निलंबित पूर्व प्रधानाचार्य वंदना त्रिवेदी ने फोन पर छात्रओं को समझाया। जिला समाज कल्याण अधिकारी डा. अमरनाथ यती भी देर रात तक छात्रओं को मनाने में लगे रहे। इसके बाद सोमवार देर रात बुद्धेश्वर चौराहे पर डटी छात्रएं वापस गईं। नवनियुक्त प्रधानाचार्य अभिलाषा त्रिपाठी ने बच्चों को एक सप्ताह के अवकाश पर जाने से पहले सभी को समझाया।

घर जाने वाली छात्रओं को दी सहमति पत्र की कापी : घर जाने वाली छात्रओं को विद्यालय प्रशासन की ओर से सहमति पत्र की कापी दी गई। समाज कल्याण विभाग के उपनिदेशक श्रीनिवास द्विवेदी ने बताया कि विद्यालय के माहौल को देखते हुए छात्रओं को एक सप्ताह के लिए घर भेजा गया है। इसमें कक्षा 10 व 12 की छात्रओं की छुट्टी नहीं हुई है। उनकी बोर्ड की परीक्षा है।

आश्रम पद्धति विद्यालय की छात्रओं से बात करते कांग्रेस नेता ’जागरण

छात्रओं को बासी खाना देने का मामला, निदेशक समाज कल्याण ने कहा-आरोपितों के विरुद्ध की जाएगी अनुशासनात्मक कार्रवाई

प्रधानाचार्य से मिले कांग्रेस नेता

कांग्रेस के नगर अध्यक्ष अजय श्रीवास्तव के नेतृत्व प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानाचार्य से मुलाकात कर आरोपी अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की।

Sarkari Exam 2022 Govt Job Alerts Sarkari Jobs 2022
Sarkari Result 2022 rojgar result.com 2022 UPTET 2022 Notification
हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी अगर आप उत्तर प्रदेश हिंदी समाचार, और इंडिया न्यूज़ हिंदी में जानकारी के लिए www.primarykateacher.com को बुकमार्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.