जांच में अटका विद्यालय आवंटन, अब सीएम से बात

chayan boardप्रयागराज : विद्यालय आवंटन के लिए सत्याग्रह कर रहे प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी)-2016 के सामाजिक विज्ञान और कला विषय के चयनितों की चयन बोर्ड के उप सचिव से सकारात्मक बात हुई। इसके बाद अभ्यर्थियों ने चयन बोर्ड के बाहर सात दिन से चल रहा सत्याग्रह मंगलवार को खत्म कर दिया। हालांकि बुधवार को वह सुबह लखनऊ में मुख्यमंत्री से उनके जनता दरबार में मिलकर अपनी मांग रखेंगे।

मामले में चयन बोर्ड के उपसचिव नवल किशोर ने कहा है कि दोनों विषयों में कुछ छात्रों के एमएड न होने के बावजूद अंक चढ़े होने की मिली शिकायत की जांच चल रही है। जांच पूरी होते ही कालेज आवंटन कर दिया जाएगा। टीजीटी-2016 के सामाजिक विज्ञान और कला विषय के चयनित अभ्यर्थियों के सत्याग्रह की अगुवाई कर रहे चयनित मोर्चा के अध्यक्ष मृत्युंजय सिंह ने बताया कि चयन बोर्ड के उप सचिव से वार्ता हुई। वार्ता के लिए गए प्रतिनिधिमंडल में उनके साथ सुनील कुमार पंडित, ललिता सिंह, संजीव नारायण थे। उप सचिव ने आश्वस्त किया कि विद्यालय आवंटन को लेकर चयन बोर्ड सकारात्मक है। परिणाम के अंक को लेकर कुछ विसंगतियां होने की शिकायत हुई है। इसकी जांच चल रही है। उसे दूर कर विद्यालय आवंटन कर दिया जाएगा। इधर, अभ्यर्थियों को चयन बोर्ड के आश्वासन पर विश्वास नहीं है। ऐसे में छह सदस्यीय एक प्रतिनिधि मंडल बुधवार को लखनऊ में अपनी मांग रखेगा।

यह भी पढ़ेंः  बिहार बीएड प्रवेश परीक्षा पर लग सकता है कोरोना का ग्रहण

अपर मुख्य सचिव से लिया समय, डिप्टी सीएम से भी मिलेंगे : चयनित मोर्चा के अध्यक्ष मृत्युंजय सिंह ने बताया कि उन्होंने मंगलवार को अपर मुख्य सचिव माध्यमिक आराधना शुक्ला ने वार्ता की है। उन्होंने मिलने के लिए बुलाया है। इसके पहले वह जनता दरबार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर अपनी मांग रखेंगे। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को भी मांग से अवगत कराया जाएगा।