विश्वविद्यालयों व डिग्री कालेजों के स्नातक आनर्स व पीजी में लागू होगा समान पाठ्यक्रम

लखनऊ : राज्य विश्वविद्यालयों व डिग्री कालेजों में 70 फीसद न्यूनतम एक समान पाठ्यक्रम शैक्षिक सत्र 2021-22 से सिर्फ स्नातक त्रिवर्षीय कोर्स में ही लागू किया जाएगा। बीए, बीएससी व बीकाम त्रिवर्षीय कोर्स में च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस) भी लागू होगा। स्नातक आनर्स व पीजी कोर्सेज में अगले साल से एक समान पाठ्यक्रम व सीबीसीएस की व्यवस्था लागू की जाएगी।

अभी राज्य विश्वविद्यालयों व कालेजों में अलग-अलग पाठ्यक्रम पढ़ाया जा रहा है। ऐसे में विद्यार्थियों को एक विश्वविद्यालय से दूसरे विश्वविद्यालय में ट्रांसफर होने में दिक्कत होती है। पाठ्यक्रम में समानता न होने के कारण अब तक कठिनाई आ रही थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। सीबीसीएस के तहत विद्यार्थियों को अपने संकाय के अलावा दूसरे संकाय का एक विषय पढ़ने का भी मौका मिलेगा। यानी कला वर्ग के विद्यार्थी विज्ञान के विषय और विज्ञान वर्ग के विद्यार्थी कामर्स के विषय पढ़ सकेंगे। विश्वविद्यालयों को निर्देश दिए गए हैं कि वह इसे 13 सितंबर से शुरू हो रहे नए शैक्षिक सत्र 2021-22 से इसे लागू करें।