बीएसए ने आठ शिक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया, पांच का वेतन बाधित

  

गोरखपुर: जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बुधवार को जनपद के आधा दर्जन विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान जहां अनुपस्थित रहने व शैक्षिक गुणवत्ता खराब मिलने पर बीएसए ने आठ शिक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए उसी विद्यालय से संबद्ध कर दिया, वहीं पांच का वेतन बाधित कर दिया।

निरीक्षण के क्रम में बीएसए भूपेंद्र नारायण सिंह पूमावि मंगलपुर जंगल कौड़िया पहुंचे। 9.10 बजे विद्यालय में कोई अध्यापक मौजूद नहीं था। सिर्फ रसोइया उपस्थित मिली। मौके पर मौजूद नहीं मिलने पर बीएसए ने इंचार्ज प्रधानाध्यापक संगीता यादव, सहायक अध्यापक अलका सिंह, श्वेता सिंह, माधवी जायसवाल, विज्ञा ठाकुर व नीतू सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए उसी विद्यालय से संबद्ध कर दिया। इसके बाद वे प्रावि जगदीशपुर प्रथम, जंगल कौड़िया पहुंचे। यहां भी 9.20 बजे कोई अध्यापक उपस्थित नहीं मिला। सिर्फ एक शिक्षामित्र उपस्थित पाया गया। जिस पर नाराजगी जताते हुए बीएसए ने शिक्षक जनार्दन प्रसाद चौरसिया को निलंबित कर उसी विद्यालय से संबद्ध कर दिया। जबकि शिक्षामित्र उषा गुप्ता का मानदेय बाधित कर दिया।

प्रावि ठाकुरपुर नं.2, क्षेत्र भटहट में शैक्षिक गुणवत्ता निम्न मिलने पर प्रधानाध्यापक अरफा खातून को निलंबित करते हुए उसी विद्यालय से संबद्ध कर दिया। जबकि सहायक अध्यापक क्षीरजा अग्निहोत्री का वेतन बाधित कर दिया।

बीएसए ने पूमावि भगवानपुर क्षेत्र भटहट में बिना स्वीकृत कराए अवकाश पर रहने के कारण सहायक अध्यापक शाहीन जमाल व चंद्रावती मिश्र तथा प्रावि कोरीपुर, भटहट में स्वेटर वितरित नहीं करने पर सहायक अध्यापक नवीन कुमार के विरुद्ध वेतन बाधित करने की कार्रवाई की। इस कार्रवाई से विभाग में हडकंप मचा हुआ है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *