शिक्षा मित्रों मामले में रिज़वान अंसारी टीम की क्यूरेटिव याचिका मा0 सुप्रीम कोर्ट में रजिस्टर्ड हुई

उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्र काफी लम्बे समय से अपनी मांगों को लेकर जद्दोजहद कर रहे है। प्रदेश में सभी समायोजित व असमायोजित शिक्षामित्रों का प्रतिनिधित्व करने वाली न्याय की अंतिम सीढ़ी क्यूरेटिव याचिका – MOHAMMED RABIE vs THE STATE OF U.P. आज सुप्रीम कोर्ट में रजिस्टर्ड हो गयी। Curative petition नंबर- 104/2019 आज प्राप्त हो गया है।

टीम की अब कोशिश ये होगी कि जल्द से जल्द याचिकाओं को लिस्टेड करवाया जाए। टीम ने अपनी याचिका में ओपन कोर्ट हियरिंग की एप्लिकेशन भी लगाई है। हालांकि सभी याचिकाएं अभी चैम्बर में ही सुनी जाएंगी। जिसमे सिर्फ जजेस ही याचिका की क्वालिटी पॉइंट चेक करेंगे। अगर याचिका एक्सेप्ट हुई तो ओपन हियरिंग के लिए लिस्टेड होगी। जिसकी संभावना मात्र 1% ही है। क्योंकि टीम का कहना है कि हम प्रत्येक पायदान पर केस हारे हुए हैं।

टीम ने इस याचिका को अपने निजी खर्चे पर योजित किया है। प्रदेश में सिंगल शिक्षामित्र से क्यूरेटिव के नाम पर कोई आर्थिक सहायता नहीं ली गई है। टीम का कहना है कि जब तक ये सभी याचिकाएं एक्सेप्ट होकर ओपेन कोर्ट हियरिंग के लिए न लग जाएं तब तक कोई भी खर्चा भी नही लिया जायेगा और न ही किसी को दिया जाए। जो भी संघठन या लोग शिक्षामित्रों से क्यूरेटिव के नाम पर धन-उगाही कर रहे हैं वो सिर्फ आम लोगो को बेवकूफ बना रहे हैं। इसीलिए जागरूक व सतर्क रहें।

जैसे ही क्यूरेटिव हियरिंग की मा0 सुप्रीम कोर्ट में कोई गतिविधि होगी, आप सभी को अवगत करा दिया जाएगा। इसलिए तब तक अपने अमूल्य सहयोग को बचा कर रखें अन्यथा वसूलने वालों की मंडी खुली हुई है।
*®टीम रिज़वान अंसारी।।*
(टेट सेवा समिति-उ0प्र0)

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.