असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती अब आउटसोर्सिंग के माध्यम से की जाएगी


अब तक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को ही आउटसोर्सिंग पर रखा जाता रहा है, लेकिन अब असिस्टेंट प्रोफेसर भी आउटसोर्सिंग के माध्यम से रखे जाएंगे। प्रदेश में नए बने स्नातक एवं स्नातकोत्तर राजकीय महाविद्यालयों में प्रवक्ता यानी असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती आउटसोर्सिंग से की जाएगी। विशेष सचिव योगेंद्र दत्त त्रिपाठी ने उच्च शिक्षा निदेशक को पत्र भेजकर इस बारे में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं।

राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के तहत निर्मित 61 राजकीय महाविद्यालयों में प्रवक्ता के 122 पदों पर भर्ती होनी है। 49 राजकीय महाविद्यालयों में परास्नातक स्तर पर कला, विज्ञान एवं वाणिज्य संकाय के विषयों के लिए प्रवक्ता के 98 पद सृजित किए गए हैं। वहीं, 12 राजकीय महाविद्यालयों में स्नातक स्तर पर वाणिज्य संकाय के विषयों के लिए 24 पदों का सृजन किया गया है। इसके साथ ही विशेष सचिव ने उच्च शिक्षा निदेशक को महाविद्यालयों के नाम, विषय एवं प्रस्तावित सृजित पदों की सूची भी भेजी है।

विशेष सचिव ने अपने पत्र में लिखा है कि उच्च शिक्षा निदेशक सुनिश्चित करेंगे कि प्रस्तावित पद मानकों और वास्तविक आवश्यकता के अनुरूप हैं। निदेशक उच्च शिक्षा पदनाम एवं वेतनमान के संबंध में संतुष्ट हो लेंगे। पदों को तभी भरा जाएगा, जब राजकीय महाविद्यालय संचालित होने की स्थिति में आ जाएंगे। आउटसोर्सिंग से भरे जाने वाले पदों के लिए सेवा प्रदाता एजेंसी का चयन नियमों के अनुरूप पारदर्शिता के साथ किया जाएगा। पत्र में यह भी कहा गया कि इन सभी अस्थायी पदों को बिना किसी पूर्व सूचना के समाप्त न किया जाए।
तृतीय श्रेणी में प्रमोशन के लिए 14 मार्च को होगी परीक्षा
राजकीय महाविद्यालय/क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी कार्यालय/पुस्तकालयाध्यक्ष, राजकीय पब्लिक लाइब्रेरी प्रयागराज में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की तृतीय श्रेणी में प्रोन्नति के लिए 14 मार्च को परीक्षा आयोजित की जाएगी। परीक्षा हेमवती नंदन बहुगुणा राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, नैनी में सुबह नौ बजे से शुरू होगी। अभ्यर्थियों को सुबह आठ बजे परीक्षा केंद्र में उपस्थिति दर्ज करानी होगी। तृतीय श्रेणी में प्रमोशन के लिए प्रदेश के विभिन्न जिलों से चतुर्थ श्रेणी के 93 कर्मचारियों ने दावेदारी की है। इस बाबत उच्च शिक्षा के सहायक निदेशक डॉ. बीएल शर्मा ने संबंधित क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारियों, प्राचार्यों एवं पुस्तकालयाध्यक्ष को पत्र के माध्यम से आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.