राजकीय स्कूलों में अतिथि शिक्षकों को दोबारा मिली नियुक्ति

  

नई दिल्ली : राजकीय स्कूलों में पढ़ा रहे अतिथि शिक्षकों को शिक्षा निदेशालय ने दोबारा नियुक्ति दे दी है। शिक्षा निदेशालय द्वारा जारी परिपत्र (सकरुलर) के अनुसार अभी तक राजकीय स्कूलों में पढ़ा रहे अतिथि शिक्षक शैक्षणिक सत्र 2017 -18 में भी पढ़ा सकेंगे। दिल्ली के 1024 राजकीय स्कूलों में तकरीबन 17 हजार अतिथि शिक्षक अभी तक पढ़ाते रहे हैं।

जिन्हें प्रत्येक वर्ष एक सत्र के लिए निदेशालय द्वारा प्रतिनियुक्ति दी जाती है। इसी क्रम में निदेशालय ने मंगलवार को परिपत्र जारी किया था। जिसमें निर्देशित किया गया है कि जो अतिथि शिक्षक शैक्षणिक सत्र 2016-17 में स्कूलों में कार्यरत थे, उन्हें इस शैक्षणिक सत्र में दोबारा नियुक्त किया जाता है। परिपत्र में स्पष्ट किया गया है कि अतिथि शिक्षक अगर 8 जुलाई तक रिपोर्ट नहीं करते हैं तो उनकी नियुक्ति टाल दी जाएगी। गैर सीटीईटी पास शिक्षकों को दोबारा नियुक्ति देते हुए 30 सितंबर 2017 तक सीटीईटी पास करने को कहा गया है।

अतिथि शिक्षकों को दोबारा मिली नियुक्ति पर ऑल इंडिया गेस्ट टीचर्स एसोसिएशन ने सरकार को धन्यवाद देते हुए असंतोष जताया है। एसोसिएशन के पदाधिकारी शोएब राणा ने कहा कि अतिथि शिक्षक सरकार से नौकरी की सुरक्षा संबंधी घोषणा का इंतजार कर रहे थे, लेकिन सरकार ने सिर्फ एक सत्र के लिए दोबारा नियुक्ति दी है।

उन्होंने कहा कि नियमित शिक्षकों के ट्रांसफर होने शुरू हो गए हैं और नियमित शिक्षकों की प्रमोशन सूची जारी होने हैं। इससे अतिथि शिक्षक बड़ी संख्या में प्रभावित होंगे। ऐसे अतिथि शिक्षकों को समायोजित करने के लिए सरकार ने अभी तक कोई योजना नहीं बनाई है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *