प्राचार्यों की भर्ती प्रक्रिया पर आप ने उठाए सवाल

शिक्षक भर्तीलखनऊ : आम आदमी पार्टी (आप) ने एडेड डिग्री कालेजों में प्राचार्यों के खाली पदों पर हो रही भर्ती प्रक्रिया पर सवाल उठाए हैं। आप के मुख्य प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने कहा कि भर्ती में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है।

उन्होंने आरोप लगाया कि शैक्षणिक प्रदर्शन संकेतक (एपीआइ) की अनिवार्यता और शिक्षक पद पर 15 वर्ष के अनुभव को बिना यूजीसी की अनुमति के शिथिल कर दिया गया। चयन प्रक्रिया का पुनरीक्षण होना चाहिए और यह न्यायालय की निगरानी में कराया जाए। प्राचार्य पद पर भर्ती के लिए पहले 2017 में विज्ञापन जारी किया गया था, लेकिन भर्ती नहीं हो पाई थी। फिर वर्ष 2019 में विज्ञापन जारी हुआ, लेकिन भर्ती नहीं हो पा रही है। उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग द्वारा यूजीसी की वर्ष 2010 की नियमावली के अनुसार भर्ती होनी चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा।

यह भी पढ़ेंः  वचरुअल बैठक में परिषद ने संविदा कर्मचारियों के नियमितीकरण की मांग दोहराई