मंडलीय सचल दल का गठन चार टीमें करेंगी निगरानी

यूपी बोर्ड परीक्षा-2020 के लिए लखनऊ मंडल में चार मंडलीय सचल दल गठित कर दिए गए। प्रत्येक दल में एक प्रभारी व एक महिला सहित चार सदस्य रहेंगे। यह टीमें 18 फरवरी से शुरू हो रही परीक्षाओं में लखनऊ के अलावा उन्नाव, हरदोई, लखीमपुर खीरी, सीतापुर और रायबरेली में भी औचक निरीक्षण करेंगी।

कंट्रोल रूप नंबर जारी, दे सकते हैं शिकायत : मंडलीय कंट्रोल रूम का नंबर 0522-2254070 भी बुधवार को जारी कर दिया गया। परीक्षा संबंधी कोई शिकायत इस पर दर्ज कराई जा सकती है। यह नंबर 18 फरवरी से कार्य करेगा। कंट्रोल रूम में दो प्रभारी सहित आठ लोगों की टीम सक्रिय रहेगी। पहली पाली सुबह 5.30 से दोपहर 1.30 बजे तक व दूसरी पाली इसके बाद शुरू होगी।

ये भी पढ़ें : हाईस्कूल के पांच पेपरों से उलझन

लखनऊ : परीक्षा केंद्र में कड़ी चेकिंग के बाद प्रवेश। सीसीटीवी कैमरों से परीक्षार्थियों पर नजर। ऊपरी तौर पर यह व्यवस्था नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए चुस्त-दुरुस्त दिखती है। बुधवार को इन दावों की हकीकत कुछ और ही दिखी। राजकीय जुबली इंटर कॉलेज में बने स्ट्रांग रूम से बिना सुरक्षाकर्मियों के ही प्रश्नपत्र परीक्षा केंद्रों पर भेजे गए। सुरक्षा न पहरेदारी।

सिटी स्टेशन रोड स्थित जुबली कॉलेज में माध्यमिक शिक्षा विभाग ने प्रश्न पत्रों के लिए स्ट्रांग रूम बनाया है। यहां बुधवार को हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के प्रश्नपत्र ले जाने के लिए परीक्षा केंद्र के प्रतिनिधियों की भीड़ थी। चारों तरफ पुलिसकर्मी तैनात थे। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह और विभाग के कई अधिकारी भी मौजूद थे। केंद्र व्यवस्थापक, प्रिंसिपल अपनी छोटी गाड़ियों में पेपर के बंडल रखवा रहे थे। इस दौरान अमीनाबाद इंटर कॉलेज, गोमतीनगर जीजीआइसी की प्रिंसिपल और तालीमगाह नेसवा इंटर कॉलेज समेत तमाम विद्यालयों की प्रिंसिपल निजी कार में बिना सुरक्षाकर्मियों के प्रश्नपत्र लेकर रवाना हो गए।

प्रश्नपत्र वितरण केंद्र जुबली इंटर कॉलेज में पर्याप्त सुरक्षाकर्मी लगाए गए थे। पर कुछ विद्यालयों के प्रिंसिपल अपनी निजी छोटी कारों से आए थे। उन्होंने कहा था कि सुरक्षाकर्मी को ले जाने के लिए उनकी कार में जगह नहीं है। विद्यालय नजदीक थे, इसलिए सुरक्षाकर्मी नहीं ले गए। सभी बड़ी गाड़ियों में सुरक्षाकर्मियों के साथ ही प्रश्नपत्र भेजे गए। – डॉ. मुकेश कुमार सिंह, डीआइओएस

आदेश हवा, केवल मिनी बसों में ही गए सुरक्षाकर्मी

सिर्फ अमाइटी मांटेसरी इंटर कॉलेज की एक मिनी बस और कुछ एक अन्य विद्यालयों से मिनी बस आई थी। इन मिनी बसों में ही प्रश्नपत्र के साथ सुरक्षाकर्मी गए। जबकि, बोर्ड के आदेश थे कि प्रत्येक विद्यालय में प्रश्नपत्र बंद गाड़ियों में जाएंगे। इन गाड़ियों में सशस्त्र पुलिसकर्मी रहेंगे। केंद्र में पहुंचते ही प्रश्नपत्रों को स्ट्रांगरूम में रखकर लॉक किया जाएगा। इस स्ट्रांगरूम की 24 घंटे सीसी कैमरे से निगरानी की जाएगी। News Source – जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.