शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए क्वालिटी मॉनीटरिंग सेल (क्यूएमसी) का होगा गठन

राजकीय और सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने को क्वालिटी मॉनीटरिंग सेल (क्यूएमसी) का गठन होगा। यह सेल प्रदेश, मंडल और जिला स्तर पर बनेगी। इस संबंध में निदेशक विनय कुमार पांडेय ने चार अक्टूबर को निर्देश जारी किए हैं।

मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक और जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआइओएस) को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि माध्यमिक विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए प्रदेश, मंडल और जिला स्तर पर क्यूएमसी गठित करने का निर्णय लिया गया है। यह सेल राजकीय और सहायता प्राप्त विद्यालयों में हो रहे पठन-पाठन, शिक्षा की गुणवत्ता की प्रभावी निगरानी और अन्य क्रियाकलापों का अध्ययन, अभिलेखीकरण करके विश्लेषण करेगी। प्राप्त निष्कर्षो के आधार पर विद्यालयों में पठन-पाठन का वातावरण तैयार कर विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक सुझाव भी देगी। प्रदेश स्तर पर अपर शिक्षा निदेशक (व्यावसायिक शिक्षा), मंडल स्तर पर मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक और जिला स्तर पर डीआइओएस इस सेल के पदेन अध्यक्ष होंगे।

पांच टीमें गठित कर दी गई हैं। दशहरा के बाद विद्यालयों का निरीक्षण करके उनकी जरूरतें और सुधार के लिए नवाचार समेत अन्य कार्यक्रम शुरू किए जाएंगे। टीमों में दो सहायक जिला विद्यालय निरीक्षक, दो जीआइसी के प्रधानाचार्यो के अलावा मैं भी शामिल हूं।

आरएन विश्वकर्मा, जिला विद्यालय निरीक्षक

जिला स्तरीय सेल में कौन-कौन होंगे शामिल

जिला स्तरीय सेल में पदेन अध्यक्ष के अलावा एडीआइओएस, जीआइसी के प्रधानाचार्य अथवा प्रधानाचार्या सदस्य सचिव, डीआइओएस द्वारा नामित राजकीय अथवा सहायता प्राप्त विद्यालयों से एक प्रधानाचार्य व प्रधानाचार्या और एक शिक्षक एवं एक शिक्षिका सदस्य होंगी। मंडल स्तरीय सेल में पदेन अध्यक्ष के अलावा मंडलीय उप शिक्षा निदेशक सदस्य सचिव, जेडी द्वारा नामित राजकीय अथवा सहायता प्राप्त विद्यालयों के प्रधानाचार्य व प्रधानाचार्या और एक-एक शिक्षक-शिक्षिका सदस्य होंगी।

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.