प्रयागराज कर्मचारी शिक्षक अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के आह्वान पर जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया

प्रयागराज कर्मचारी शिक्षक अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के आह्वान पर सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया गया। इसके अलावा हनुमान मंदिर सिविल लाइंस से मशाल जुलूस निकालकर डीएम को मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा। मांगपत्र प्रधानमंत्री, वित्तमंत्री व मुख्य सचिव यूपी सरकार को भी भेजा गया।

इस विरोध-प्रदर्शन का प्रतिनिधित्व प्राथमिक शिक्षक संघ व मंच के जनपद अध्यक्ष देवेंद्र श्रीवास्तव व संयोजक अजय भारती के नेतृत्व में किया गया। धरने का संचालन विनोद कुमार पांडेय ने किया। इस प्रदर्शन में सिंचाई, शिक्षा, कोषागार, लोक निर्माण विभाग, आबकारी, प्राथमिक शिक्षक, जूनियर शिक्षक संघ, स्वास्थ्य विभाग,वाणिज्य कर, ग्राम्य विकास, राजस्व, ग्राम पंचायत सहित सैकड़ों संवर्गो के कर्मचारी, अधिकारी व शिक्षक शामिल रहे।

यह भी पढ़ेंः  राजस्थान में प्राइमरी स्कूल के लिए कुल 1820 शिक्षकों के नए पदों की स्वीकृति

आठ अक्टूबर 2018 को लखनऊ में पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर महारैली आयोजित की गई थी। इसके बाद 25 अक्टूबर को प्रस्तावित हड़ताल से पहले सरकार ने आठ सदस्यीय कमेटी बना दी और दो माह के भीतर निर्णय देने का आश्वासन दिया था। अभी तक पुरानी पेंशन बहाली को लेकर सरकार ने कोई निर्णय नहीं लिया है। मंच ने चेतावनी दी है कि यदि सरकार अपने वादे पर खरा नहीं उतरती और पुरानी पेंशन बहाली का निर्णय नहीं करती तो आठ फरवरी से लेकर 12 फरवरी तक प्रदेश स्तरीय महाहड़ताल होगी। धरने को संबोधित करने वालों में प्रमुख रूप से विनोद कुमार पांडेय, अजय भारती, आरपी शुक्ला, बीके पांडेय, राग विराग, बीके तिवारी, बीके राजपूत, आरपी मिश्र, गौतम त्रिपाठी, शिवशंकर सिंह, प्रमिल श्रीवास्तव, एसएम आब्दी, जीत लाल यादव,माधुरी देवी, क्रांति पांडेय आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ेंः  सीएम रविवार को दो दिवसीय दौरे पर बनारस पहुंचे

प्रयागराज: कामगार संघर्ष समिति की बैठक सोमवार को जानसेनगंज स्थित कार्यालय में हुई। इसमें पुरानी पेंशन बहाली की मांग की गई। सुभाष पांडेय और कड़ेदीन यादव ने कहा कि वादा करके भूल जाना कर्मचारियों के साथ धोखाधड़ी है। यह सरकार नैतिक और सामाजिक नहीं है। कर्मचारियों को सेवानिवृत्त के बाद परिवार से निकालने के लिए उनकी पेंशन छीन ली गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि पुरानी पेंशन की बहाली के लिए रथ यात्र निकाली जाएगी। इस यात्र में सरकारी, अर्ध सरकारी, निगमों, संविदा, आशा बहू, आंगनबाड़ी, रसोइया, स्वास्थ्यकर्मी शामिल होंगे। समिति के संयोजक राम सागर ने कहा कि पेंशन रथ यात्र की रणनीति बनाने के लिए विभिन्न संघों की बैठक पांच फरवरी को बुलाई है।

यह भी पढ़ेंः  अगले सत्र से एनसीईआरटी पाठ्यक्रम के मुताबिक पढ़ाई की तैयारियां शुरू