प्रधानाध्यापकों की भर्ती में आरक्षण का पेच फंस गया

  

teacherसहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूलों में 1504 सहायक अध्यापक और 390 प्रधानाध्यापकों की भर्ती में आरक्षण का पेच फंस गया है। दिसंबर 2019 में जारी उत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त बेसिक स्कूल (जूनियर हाईस्कूल) नियमावली-1978 (अध्यापकों की भर्ती एवं सेवा की शर्तें) में आरक्षण व्यवस्था की स्थिति साफ नहीं है। इन स्कूलों में भर्ती के लिए पहली बार लिखित परीक्षा कराई गई थी।

सरकार ने नियमावली में संशोधन कर टीईटी/सीटीईटी और लिखित परीक्षा का प्रावधान किया। लेकिन संशोधन में आरक्षण पर स्थिति साफ नहीं हो सकी। अब अधिकारी तय नहीं कर पा रहे कि कुल विज्ञापित 1894 पदों पर आरक्षण लागू होगा या विद्यालयवार दिया जाएगा। ऐसे में बेसिक शिक्षा विभाग के अफसर विधिक राय ले रहे हैं। ताकि भर्ती होने पर कानूनी अड़चन सामने न आए। सूत्रों के अनुसार भर्ती दिसंबर अंत तक पूरी होनी है। ऑनलाइन विकल्प लेने के लिए एनआईसी से बातचीत भी हो चुकी है। आरक्षण का मुद्दा फाइनल न होने से प्रक्रिया शुरू नहीं हो पा रही है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *