प्रमुख सचिव ने किया नारी शिक्षा निकेतन का औचक निरीक्षण

यूपी बोर्ड परीक्षा को नकलविहीन कराने के लिए एक ओर जहां सरकार हर जतन अपना रही, वहीं दूसरी ओर केंद्र अपने र्ढे पर कायम हैं। सोमवार को प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा आराधना शुक्ला ने परीक्षा के दौरान केंद्रों का औचक निरीक्षण किया तो यही हकीकत सामने आई।

सोमवार को पहली पाली में दसवीं की चित्रकला और रंजनकला की परीक्षा थी। सुबह करीब 10:45 पर प्रमुख सचिव अचानक नारी शिक्षा निकेतन में पहुंचीं। उन्हें देख केंद्र पर हड़कंप मच गया। पहले सीधे भूतल पर परीक्षा कक्ष में गईं। व्यवस्था देखी। परीक्षार्थियों का हाल जाना। उनसे पूछा पेपर कैसा है। किस विषय की परीक्षा है। परीक्षाके दौरान एक ही कमरे में विद्यालय के दो कक्ष निरीक्षक ड्यूटी करते मिले। दोनों नारी शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज में ही शिक्षक हैं। इसके अलावा केंद्र में स्टेटिक मजिस्ट्रेट कुलदीप श्रीवास्तव, अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक संतोष गुप्ता भी मौके से गायब मिले। इस पर प्रमुख सचिव ने नाराजगी जताई। मौके पर ही कारण इन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इसके बाद भूतल, फिर प्रथम तल पर स्थित कक्षों में भी गईं।

बारीकी से देखी नियम व निर्देशों की हकीकत : निरीक्षण के दौरान प्रमुख सचिव बोर्ड परीक्षाओं को लेकर बनाए गए नियमों की बारीकी से पड़ताल करती दिखीं। उन्होंने पाया कि पेपर दो लोगों के हस्ताक्षर से ही खोले गए थे, जबकि तीन लोगों के हस्ताक्षर पर ही पेपर खोले जाने का नियम है। बंद अलमारी पर सील नहीं लगी थी। उन्हें केंद्र पर लगे कई सीसीटीवी कैमरे भी खराब मिले। निरीक्षण के दौरान निदेशक विनय पांडे व संयुक्त निदेशक सुरेंद्र तिवारी भी थे। दूसरी पाली में प्रमुख सचिव ने बजरंगी लाल साहू इंटर कॉलेज का निरीक्षण किया। वहां पर भी उत्तर पुस्तिकाओं के रखरखाव में गड़बड़ी मिलने और कक्ष निरीक्षकों के पास पहचानपत्र न होने पर संबंधित अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के निर्देश दिए।

नारी शिक्षा निकेतन इंटर कॉलेज में निरीक्षण के दौरान विद्यार्थियों से मिलतीं प्रमुख सचिव माध्यमिक आराधना शुक्ला, साथ में संयुक्त निदेशक सुरेंद्र तिवारी ’ जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.