यूपी पॉलीटेक्निक छात्रों को हॉस्टल के लिए 20 फीसदी बढ़ाने की तैयारी

पॉलीटेक्निक छात्रों को हॉस्टल के लिए ज्यादा फीस चुकानी पड़ सकती है। संस्थानों ने निदेशालय को फीस बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा है।

प्रदेश के राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थानों में हॉस्टल की फीस 2000 और अनुदानित में 2300 रुपए है। अनुदानित संस्थान पिछले सत्र से ही हॉस्टल फीस बढ़ाने की मांग कर रहे थे। इस बार कोविड प्रोटोकॉल की आड़ में एक बार फिर इसे बढ़ाने की मांग की गई है। प्रस्ताव में रखरखाव, बिजली, पानी जैसी सुविधाओं के नाम पर संस्थान फीस में 20 से 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी चाहते हैं। प्राविधिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार ने बताया कि प्रस्ताव पर तीन सदस्यीय कमेटी बना दी गई है। उसकी रिपोर्ट के आधार पर ही कोई फैसला लिया जाएगा।

नए छात्रों को सता रही हॉस्टल की चिंता
पॉलीटेक्निक संस्थानों में प्रवेश प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। दूरदराज के क्षेत्रों से आकर राजकीय पॉलीटेक्निक, कानपुर में पढ़ने वाले छात्रों को रहने की चिंता सता रही है। अच्छी रैंक होने के कारण उन्हें संस्थान में प्रवेश मिल गया है लेकिन अब यहां हॉस्टल न होने से निराशा हुई है। दरअसल, कुछ वर्ष पहले तक संस्थान में 6 हॉस्टल थे। इनमें छात्रों के चार और छात्राओं के दो थे। छात्रों के हॉस्टल की क्षमता 350 और छात्राओं के हॉस्टल की कुल क्षमता 120 थी। मेट्रो निर्माण के चलते हॉस्टल तोड़ दिए गए हैं। प्रधानाचार्य मुकेश चंद आनंद ने बताया कि 70 छात्राओं के लिए गीतानगर में अस्थायी व्यवस्था की गई है। मेट्रो को हॉस्टल बना कर देना है। हॉस्टल मिलने के बाद छात्र-छात्राओं के रहने की समस्या खत्म हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.