आंगनबाड़ी केंद्रों में प्ले ग्रुप चलाने की तैयारी तेजी

: आंगनबाड़ी केंद्रों में प्ले ग्रुप चलाने की तैयारी तेजी से चल रही है। ग्रुप के बच्चों को बनारस में तैयार हिंदी की किताब पढ़ाई जाएगी। राज्य हिंदी संस्थान हिंदी के साथ अन्य किताबों के निर्माण में जुटा है। तीन से छह वर्ष तक के बच्चों के लिए तैयार हो रहीं पुस्तकों से सूबे के आंगनबाड़ी केंद्रों में पढ़ाई होगी।

शासन ने आंगनबाड़ी केंद्रों प्ले-ग्रुप का पाठ्यक्रम तैयार करने की जिम्मेदारी राज्य शैक्षिक अनुंसधान परिषद को सौंपी थी। जिले में राज्य हिंदी संस्थान को प्री-प्राइमरी के हिंदी की पुस्तक तैयार करने की जिम्मेदारी मिली है। गत वर्ष भी हिंदी संस्थान ने हिंदी की पुस्तक तैयार की थी। इस वर्ष तीन-छह साल के बच्चों के लिए अलग-अलग किताब तैयार कराई जा रही है। जिन्हें अंतिम रूप देने के लिए राज्य हिंदी संस्थान में कार्यशालाओं का दौर जारी है।

यह भी पढ़ेंः  आनंदीबेन ने बच्चों के ड्राप आउट पर विशेष रूप से ध्यान देने को कहा

राज्य हंिदूी संस्थान के निदेशक ऋचा जोशी ने बताया कि नई शिक्षा नीति में बच्चों को क्षेत्रीय भाषा में पढ़ाने पर बल दिया गया है। प्ले ग्रुप की पुस्तकों में क्षेत्रीय भाषा के अधिक उपयोग का निर्णय लिया गया है।