प्राथमिक शिक्षकों का धरना-प्रदर्शन बुधवार को भी जारी रहा

इलाहाबाद  उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के आह्वान पर प्राथमिक शिक्षकों का धरना-प्रदर्शन बुधवार को भी जारी रहा। जनपद भर के शिक्षक सामूहिक अवकाश लेकर अपनी 16 सूत्रीय मांगों को पूरा करने को सर्वशिक्षा अभियान कार्यालय पर डटे रहे। इस दौरान शिक्षक नेताओं ने कहा कि शासन को हम शिक्षकों के कल्याण की मांगों को संज्ञान में लेना चाहिए। चेतावनी दी कि ऐसा नहीं होने पर प्रदेश भर के शिक्षक विद्यालयों में तालाबंदी कर लखनऊ में विधानसभा के सामने बेमियादी धरना देंगे।

प्रदर्शन स्थल पर जुटे शिक्षकों ने संघ की सभी मांगों का एक स्वर में समर्थन किया। अपने संबोधन में जिलाध्यक्ष देवेंद्र श्रीवास्तव ने कहा हमारी मांगे गैरवाजिब नहीं हैं। अगर सरकार नहीं चेती तो प्रदेश भर में विद्यालयों में तालाबंदी कर लखनऊ में विधानसभा का घेराव किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारी प्रमुख मांगों में पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू करना, रिक्त पदों पर शीघ्र पदोन्नति आदि शामिल है। इसके अतिरिक्त अंतरजनपदीय स्थानांतरण की समयावधि एक वर्ष में करना, शिक्षक पदों का सृजन 31 जुलाई के छात्र संख्या को आधार बनाकर करना, शिक्षकों को राज्य कर्मचारियों की भांति कैशलेस मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध कराना, मृतक आश्रितों को शिक्षक पद पर सीधी नियुक्ति, विद्यालयों में पेयजल, फर्नीचर, चहारदिवारी, बिजली, शौचालय आदि की समुचित व्यवस्था शीघ्र होनी चाहिए।

यह भी पढ़ेंः  नियमावली में संसोधन के बाद से आवेदन नये सिरे से लेने की मांग

इसके अतिरिक्त यूनिफार्म के मद में महंगाई के अनुसार वृद्धि करना, सरकार द्वारा जारी विभिन्न येाजनाओं का लाभ दिलाना। वेतनमान की विसंगतियां खत्म करना आदि मांग शामिल हैं। बारिश के दौरान भी प्रदर्शन कर रहे शिक्षक डटे रहे। जिलाधिकारी के प्रतिनिधि एसीएम प्रथम मोहन सिंह के माध्यम से मुख्यमंत्री को उपरोक्त मांगों का ज्ञापन प्रेषित किया गया। चिंतामणि त्रिपाठी, शिवबाबू सिंह, अमर सिंह, हरित जडली, सैयद बहार आलम, अदीबा खातून, राजेंद्र कुशवाहा, केके कुशवाहा, कन्हैया यादव, मिथिलेश यादव, राकेश मिश्र, विनोद दुबे सहित बड़ी संख्या में शिक्षक शामिल हुए।

डीआइओएस को सौंपा ज्ञापन : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ पांडेय गुट ने जिलाध्यक्ष अनिल कुमार मिश्र की अध्यक्षता में 30 सूत्रीय ज्ञापन डीआइओएस आरएन विश्वकर्मा को सौंपा जिसमें शिक्षकों के कल्याण के लिए 30 सूत्रीय मांगें हैं। डीआइओएस ने शिक्षक प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कार्यालय स्तर की समस्त समस्याओं का निस्तारण अविलंब करा दिया जाएगा। शासन स्तर की मांगों को मुख्यमंत्री कार्यालय प्रेषित किया जाएगा। ज्ञापन देने में डीसी पाठक, डा. राजीव सिंह, सुनील पांडेय, सुरेश यादव, संतोष शुक्ल, पुष्पा राय, डा. सुष्मा त्रिपाठी, श्याम मोहन जायसवाल और अकबर अहमद आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

यह भी पढ़ेंः  47 अभ्यर्थियों का रोका नियुक्तिपत्र