69000 शिक्षक भर्ती के फरार मास्टरमाइंड चंद्रमा यादव की तलाश में पुलिस की जगह जगह छापेमारी

यूपी में 69 हजार शिक्षक भर्ती हुए धांधली के आरोपी दुर्गेश सिंह नामक युवक की तलाश में पुलिस जगह जगह छापेमारी कर रही है. लेकिन प्रतापगढ़ के रहने वाले इस व्यक्ति को अब तक न तो सोरांव पुलिस पकड़ पाई है और न ही एसटीएफ गिरफ्तार कर पाई. स्कूल प्रबंधक चंद्रमा यादव और नामजद आरोपी मायापति के साथ दुर्गेश भी फरार है. बताया जा रहा है कुछ दिन पहले जब दुर्गेश सिंह के बारे में पुलिस को पता चला तो पुलिस की एक टीम ने प्रतापगढ़ में दबिश दी. सूचना के आधार पर पुलिस ने एक दूकान में मौजूद दुर्गेश सिंह नमक व्यक्ति को पकड़ लाई. लेकिन इस दुर्गेश का शिक्षक भर्ती से दूर दूर तक कोई रिस्ता नहीं है. दरअसल, हुआ यूं कि शिक्षक भर्ती में धोखाधड़ी करने वाला दुर्गेश ने प्रतापगढ़ में एक दुकानदार दुर्गेश सिंह से दोस्ती की. आरोपी उसी की दुकान पर अभ्यर्थियों को अपने काम के लिए बुलाता था. लोग सोचते थे यही दुर्गेश सिंह का मकान और दुकान है. जबकि अपना ठिकाना छिपाने के लिए उसने ऐसा किया.

प्रतापगढ़ और भदोही में एसटीएफ ने की छापेमारी
69000 शिक्षक भर्ती का आरोपी स्कूल संचालक चंद्रमा यादव समेत अन्य की तलाश में सोमवार व रविवार को एसटीएफ ने प्रतापगढ़, भदोही, धूमनगंज और कौशांबी जिलों में छापेमारी की. लेकिन वह पकड़ में नहीं आया. पुलिस ने शक के आधार पर कुछ संदिग्धों को पकड़कर पूछताछ भी की है. बताया जा रहा है कि वहां दुर्गेश के अलावा डॉक्टर कृष्ण लाल पटेल के कई करीबी हैं. इसके अलावा एसटीएफ ने नामजद फरार आरोपी मायापति की तलाश में भदोही में भी दबिश दी.

अमिताभ ठाकुर ने एसटीएफ को दिए साक्ष्य प्रयागराज
सोमवार को आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने प्रयागराज एसटीएफ के प्रभारी नीरज पाण्डेय से फोन पर वार्ता कर बताया कि उनके पास 69000 शिक्षक भर्ती से जुड़े कई सबूत उपलब्ध हैं. बातचीत के बाद उन्होंने व्हाट्सएप से एसटीएफ प्रभारी को ऑडियो समेत कई साक्ष्य शेयर किया. अमिताभ ठाकुर ने नीरज पांडेय को पत्र प्रेषित कर बताया कि उन्होंने जो सैकड़ों की संख्या में साक्ष्य भेजे हैं, उनमें अभिलेख, टिप्पणी, ऑडियो तथा वीडियो रिकॉर्डिंग शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.