भाजपा कार्यालय और मुख्यमंत्री आवास पर 69000 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों का प्रदर्शन

लखनऊ : बेसिक शिक्षा मंत्री व उपमुख्यमंत्री के आवास पर प्रदर्शन के बाद आंदोलन अब मुख्यमंत्री योगी की चौखट तक पहुंच गया है। मंगलवार को 69,000 शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों ने सीएम आवास व भाजपा कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। पुलिस ने अभ्यर्थियों को नियंत्रित करने के लिए बल प्रयोग किया, जिसमें कई अभ्यर्थी घायल हो गए।

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक विद्यालयों में 69,000 सहायक अध्यापकों की भर्ती हुई। ओबीसी अभ्यर्थी भर्ती में गड़बड़ी होने का आरोप लगा रहे हैं। राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग को लेकर अभ्यर्थियों ने सुबह मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया। प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे विजय यादव को सिर में चोट आई। उन्हें सिविल अस्पताल ले जाया गया। प्रशासन ने अभ्यर्थियों को बस से इको गार्डेन भेजा, लेकिन कुछ अभ्यर्थी रास्ते में ही उतर गए और सैकड़ों साथियों के साथ भाजपा कार्यालय का घेराव करने पहुंच गए। अभ्यर्थियों पर पुलिस ने बल प्रयोग किया, जिसमें मुक्ता कुशवाहा का हाथ टूटने व सरिता पटेल के पैर में चोट आने का आरोप है। वहीं, पुलिस बल प्रयोग से इन्कार कर रही है। अभ्यर्थियों का कहना है कि राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग की रिपोर्ट में कहा गया है कि ओबीसी आरक्षण कोटे की सीटों की हकमारी हुई है, लेकिन बेसिक शिक्षा विभाग मनमानी कर रहा है ।

Haryana News in Hindi पढने के लिए प्राइमरी का टीचर पर डेली विजिट कर