किताब नहीं तो ई-पोथी से काम चलेगा परिषदीय स्कूलों में

e-pothi mobile app परिषदीय स्कूलों में बच्चों को सरकार की ओर से मुफ्त में मिलने वाली किताबों के वितरण में लेटलतीफी का राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद ने तोड़ निकाला है। एससीईआरटी ने ‘ई-पोथी’ नामक मोबाइल एप विकसित किया है जो परिषदीय स्कूलों में पढ़ाई जाने वाली किताबों का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण है।

ई-पोथी नामक यह मोबाइल www.scretup.co.in पर उपलब्ध है। यह मोबाइल एप स्मार्टफोन पर आसानी से खुलता है। लिहाजा परिषदीय स्कूलों के शिक्षक और बच्चों के अभिभावक स्मार्टफोन पर E-Pothi खोलकर इन किताबों से बच्चों को पढ़ा सकते हैं। ई-पोथी पर अभी कक्षा चार से लेकर आठ तक की किताबें उपलब्ध है। बेसिक शिक्षा निदेशक ने बताया कि कक्षा एक से तीन तक की किताबों के इलेक्ट्रॉनिक संस्करण ई-पोथी पर इसलिए नहीं अपलोड किये गए क्योंकि तब उनका पुनरीक्षण किया जा रहा था। अब इन तीनों कक्षाओं की किताबों को भी ई-पोथी पर अपलोड करने की तैयारी है। ई-पोथी को तैयार करने के लिए बाहरी एजेंसी की मदद लिए बगैर एससीईआरटी ने प्रशिक्षण संस्थानों के स्टाफ और प्रशिक्षण ले रहे प्रशिक्षणार्थियों की मदद से इसे विकसित किया है।

पढ़ें- 7429 parishadiya school dependent on only Teacher

Basic Shiksha Vibhag UP समाचार पढ़ने के लिए आप primarykateacher ब्लॉग को सब्सक्राइब कर सकते है। जिससे आपको हमारे ब्लॉग की लेटेस्ट पोस्ट का नोटिफिकेशन मिल सके। साथ ही इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया पर शेयर करें ताकि और लोग भी इस पोस्ट का फायदा उठा सकें।

6 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *