लविवि में एडमिशन के लिए ऑनलाइन आवेदन आज से

लखनऊ : लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन ने सत्र 2020-21 में अंडर ग्रेजुएट (यूजी) और पोस्ट ग्रेजुएट (पीजी), एमएड, एमपीएड, बीपीएड समेत सभी कोर्स में दाखिले के लिए सोमवार यानी 16 मार्च से आवेदन किए जा सकेंगे। इस बार आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन रहेगी। निर्धारित तिथि के बाद अभ्यर्थियों को विलंब शुल्क के साथ भी आवेदन करने का मौका दिया जाएगा।

लविवि की ओर से घोषित प्रवेश प्रक्रिया के तहत सभी कोर्सो में दाखिला प्रक्रिया नौ जुलाई तक पूरी करनी होगी, ताकि 10 जुलाई से नए शैक्षिक सत्र की शुरुआत हो सके।

यूजी में 16 मार्च से आवेदन : यूजी में बीए, बीए ऑनर्स, बीकॉम ऑनर्स, बीकॉम रेगुलर, बीकॉम सेल्फ फाइनेंस, एलएलबी पांच वर्षीय, बीएससी मैथ्स ग्रुप, बीएससी बायो ग्रुप, बीवीए-बीएफए, बीवोक रेन्यूएबल एनर्जी, बीसीए और डिप्लोमा इन फाइन आर्ट्स कोर्स में दाखिले के लिए आवेदन सोमवार यानी 16 मार्च से होंगे। यूजी मैनेजमेंट के बीबीए, बीबीए आइबी, बीबीए एमएस, बीबीए पर्यटन और एमबीए पांच वर्षीय, बीएलएड में दाखिले के लिए 10 अप्रैल तक आवेदन किए जा सकेंगे। लेट फीस के साथ 15 अप्रैल तक आवेदन का मौका दिया जाएगा। यूजी में 10 अप्रैल के बाद एक हजार रुपये लेट फीस के साथ 15 अप्रैल तक आवेदन किए जा सकते हैं। 22 अप्रैल को प्रवेश पत्र जारी होंगे। 28 अप्रैल से आठ मई तक इन कोर्सो में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा होगी।

प्रोग्राम जनरल कैटेगरी फीस एससी-एसटी कैटेगरी फीस

  • यूजी 800 400
  • पीजी 1000 500
  • यूजी मैनेजमें 1000 500
  • बीएलएड 1600 800
  • बीपीएड-एमपीएड 1600 800
  • एमएड 1600 800
  • सर्टिफिकेट कोर्स 500 500

नोट- निर्धारित तिथि के बाद एक हजार रुपये लेट फीस देना होगा। सर्टिफिकेट कोर्स में नहीं होगा लागू।

पीजी में दाखिले के लिए आवेदन 25 अप्रैल तक

पीजी कोर्सो के साथ ही बीपीएड- एमपीएड और एमएड के ऑनलाइन आवेदन भी आज से ही शुरू होंगे। इन कोर्सो में आवेदन फॉर्म जमा करने की अंतिम तारीख अगल-अलग निर्धारित की गई हैं। पीजी कोर्स में बिना लेट फीस के साथ 25 अप्रैल तक आवेदन होंगे। जबकि लेट फीस के साथ 30 अप्रैल तक आवेदन होंगे। एक मई को प्रवेश पत्र जारी होंगे। पीजी कोर्सो में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा 20 मई से 30 मई के बीच में होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.