शिक्षक भर्ती में पांच महीने में एक रिजल्ट दूसरे का 10 साल से इंतजार

  

UP Boardसुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया तो उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में प्रशिक्षित स्नातक (टीजीटी) 2021 का परिणाम महज पांच महीने में घोषित कर दिया। सामान्य तरीके से यह भर्ती हो रही होती तो शायद 10 साल में भी पूरी न हो पाती।

शिक्षक भर्ती
● 10 साल में टीजीटी जीव विज्ञान का नहीं दे सके रिजल्ट
● उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड का हाल

चयन बोर्ड आज तक इस परीक्षा का परिणाम घोषित नहीं कर सका है। यूपी बोर्ड ने तकरीबन ढाई दशक पहले ही हाईस्कूल स्तर से जीव विज्ञान विषय को हटा दिया था। लेकिन इंटरमीडिएट एक्ट 1921 में संशोधन नहीं किया। लिहाजा चयन बोर्ड इस विषय की भर्ती करता रहा। टीजीटी बायो 2011 को लेकर कुछ विवाद हो गया जिसके कारण यह भर्ती फंसी रही और उसके बाद जारी हुई टीजीटी बायो 2013 के 50 विषयों का चयन पूरा हो गया।

टीजीटी बायो 2011 की परीक्षा 17 जुलाई 2016 को कराई जा सकी। लेकिन परिणाम जारी होता कि उससे पहले चयन बोर्ड ने 12 जुलाई 2018 को टीजीटी बायो 2016 के 304 पदों का विज्ञापन निरस्त करने का निर्णय ले लिया। इसके चलते 2011 की भर्ती फिर से फंस गई। इसके बाद अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका कर दी।

हाईकोर्ट के आदेश पर 31 जुलाई को टीजीटी बायो Written Exam 2016 कराई गई। लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर टीजीटी-पीजीटी 2021 की भर्ती 31 अक्तूबर तक पूरी करने की जल्दबाजी में चयन बोर्ड न तो टीजीटी बायो 2011 और न ही 2016 का परिणाम घोषित कर सका है। परिणाम जारी होने के बाद साक्षात्कार होंगे तब कहीं जाकर अंतिम परिणाम घोषित हो पाएगा। वहीं टीजीटी बायो 2021 के 735 पदों का परिणाम मंगलवार को घोषित हो गया।

Sarkari Exam 2022 Govt Job Alerts Sarkari Jobs 2022
Sarkari Result 2022 rojgar result.com 2022 UPTET 2022 Notification
हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी अगर आप उत्तर प्रदेश हिंदी समाचार, और इंडिया न्यूज़ हिंदी में जानकारी के लिए www.primarykateacher.com को बुकमार्क करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.