ग्रुप बी और सी की नौकरियों के लिए एक परीक्षा का प्रस्ताव

  

नई दिल्ली : एक बड़े कदम के तहत केंद्र सरकार ने प्रस्ताव किया है कि ग्रुप बी और सी की नौकरियों के लिए विशेषज्ञ एजेंसी द्वारा सिर्फ एक परीक्षा-सामान्य पात्रता परीक्षा (सेट) का आयोजन किया जाए। इस समय संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय विदेश सेवा, भारतीय पुलिस सेवा और भारतीय वन सेवा के लिए अधिकारियों का चयन करता है। इसके अलावा यह ग्रुप ए और ग्रुप बी (राजपत्रित) के लिए भी अधिकारियों का चयन करता है।

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) सरकारी विभागों के लिए मुख्यत: ग्रुप बी कर्मचारियों का चयन करता है। अब कार्मिक विभाग ने सरकारी नौकरियों के लिए सामान्य पात्रता परीक्षा के जरिये किसी विशेषज्ञ एजेंसी द्वारा ग्रुप बी (अराजपत्रित), कुछ ग्रुप बी (राजपत्रित) और ग्रुप सी पदों पर भर्ती का प्रस्ताव रखा है। केंद्रीय कार्मिक राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा है कि इससे सभी प्रतिभागियों को समान अवसर मिलेगा। इसके अलावा इससे अभ्यर्थियों और परीक्षा आयोजित कराने वाली एजेंसी के पैसे की भी बचत होगी।

कार्मिक मंत्रलय ने इस सिलसिले में केंद्र सरकार के मंत्रलयों, राज्य सरकारों, केंद्र शासित प्रदेशों और अन्य संबंधित पक्षों से एक महीने में जवाब मांगा है। सरकार के ताजा आंकड़ों के अनुसार, एक मार्च, 2018 तक केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में 6,83,823 पद खाली थे। इनमें 5,74,289 पद ग्रुप सी, 89,638 पद ग्रुप बी और 19,896 पद ग्रुप ए के हैं। इस समय सरकारी नौकरियों के लिए अभ्यर्थियों को विभिन्न परीक्षाओं में बैठना पड़ता है। इनका संचालन अलग-अलग एजेंसियां करती हैं।

 

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *