लिखित परीक्षा में 150 प्रश्नों में से 142 पर मिलीं आपत्तियां

  

प्रयागराज : शिक्षक बनने के दावेदारों ने पूरी परीक्षा का ही मखौल उड़ा दिया है। लिखित परीक्षा की पारदर्शिता के लिए उत्तर कुंजी पर आपत्तियां मांगने की उम्दा परंपरा में ये बात सामने आई है। इम्तिहान में कुल 150 सवाल पूछे गए, उन प्रश्नों की उत्तर कुंजी पिछले दिनों जारी करके आपत्तियां ली गईं, इसमें 142 प्रश्नों पर अभ्यर्थियों ने आपत्तियां भेजी हैं। केवल आठ प्रश्नों को अभ्यर्थियों ने पता नहीं क्यों बख्श दिया, अन्यथा सारे सवालों के जवाब संदिग्ध हो जाते।

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 69 हजार सहायक अध्यापक चयन की लिखित परीक्षा छह जनवरी को हुई। प्रदेश के 800 केंद्रों पर परीक्षा देने चार लाख दस हजार से अधिक अभ्यर्थी पहुंचे। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय ने आठ जनवरी को सभी प्रश्नों की उत्तर कुंजी जारी करके आपत्तियां वेबसाइट पर मांगी गईं। शुक्रवार शाम छह बजे तक 33 हजार अभ्यर्थियों की आपत्तियां मिलीं। इसमें कई ऐसे अभ्यर्थी थे, जिन्होंने दो या फिर तीन बार उन्हीं प्रश्नों पर आपत्तियां भेजी। ऐसे में एक बार आपत्ति करने वालों की संख्या करीब 21 हजार सामने आई है। सबसे खास बात यह है कि अभ्यर्थियों ने 142 प्रश्नों पर आपत्तियां की हैं। परीक्षा संस्था के सूत्रों की मानें तो करीब नौ प्रश्न ऐसे हैं, जिन पर अधिकांश ने आपत्ति की है। परीक्षा संस्था अभ्यर्थियों की आपत्तियां देखकर अवाक रह गई, क्योंकि परीक्षा के बाद छिटपुट प्रश्नों के उत्तर विकल्प को छोड़कर किसी सवाल के जवाब पर कोई संशय नहीं था। इसे केवल आपत्ति के लिए आपत्तियां माना जा रहा है। परीक्षा संस्था अब इन आपत्तियों को विषय विशेषज्ञों को भेजकर उनका निस्तारण कराएगी और 19 जनवरी की शाम तक संशोधित उत्तर कुंजी जारी की जाएगी। इस बार गिने-चुने प्रश्नों के जवाब बदलने की ही उम्मीद है।

You may Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *