अब नियुक्ति के लिए संघर्ष कर रहे हैं 880 चयनित

UP Teacher recruitment : उत्तर प्रदेश में आज काल teacher recruitment का बोलबाला चल रहा है हर कोई अपनी मर्ज़ी के अनुसार shikshak bharti की समीक्षा कर रहा है। basic shiksha vibhag में भी यही चल रहा है। शिक्षक भर्ती को लेकर बेसिक शिक्षा विभाग में उल्टी गंगा बह रही है। जहाँ एक ओर राजनीतिक दल रोजगार को लेकर आमने-सामने हैं, वहीं अधिकारी चयनितों को नियुक्ति देने में आनाकानी कर रहे हैं। प्रदेश के 880 चयनितों उम्मीदवारों ने गुरुवार को शिक्षा निदेशालय में उग्र प्रदर्शन किया है। शासन ने बीस दिन पहले उनका विभाग आवंटन कर दिया है लेकिन, उन्हें ज्वाइन कहां करना है ये अभी तक तय नहीं हो पाया है।

उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग लखनऊ ने कनिष्ठ सहायक सामान्य चयन परीक्षा 2016 कराई थी। 13 अक्टूबर 2018 को 4054 पदों का परिणाम जारी कर दिया है। चयनित कनिष्ठ सहायकों को प्रदेश के 27 विभागों में आवंटित करने के लिए परीक्षा संस्था ने सूची भेजी। 31 जनवरी को शासन ने विभागवार आवंटन भी कर दिया है। उसके बाद से अभ्यर्थी नियुक्ति पाने की राह देख रहे थे। अन्य विभागों ने नियुक्ति प्रक्रिया में में तेजी दिखाकर नियुक्तियां शुरू कर दी है। लेकिन, Basic education के मंडलीय कार्यालय में 880 चयनितों की नियुक्ति प्रक्रिया अब तक शुरू नहीं हो सकी है। अभ्यर्थी इससे अच्छे खासे परेशान हैं। प्रदेश के चयनितों ने शिक्षा निदेशालय प्रयागराज में अपर निदेशक बेसिक शिक्षा के कार्यालय पर उग्र प्रदर्शन करके नियुक्ति मांगी। उनका कहना है कि अगले माह Lok Sabha Elections की आचार संहिता प्रभावी हो जाएगी और वे फिर पांच माह तक नियुक्ति नहीं पा सकेंगे। अभ्यर्थियों ने बेमियादी अनशन शुरू किया है और एलान किया है कि जब तक उन्हें मंडल आवंटित नहीं होगा, वे यहां से नहीं जाएंगे।

पढ़ें- OBC and General Category cut off same in 68500 shikshak bharti second result
Shikshak Bharti latest news

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *